udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news * तुरन्त गुस्सा » Hindi News, Latest Hindi news, Online hindi news, Hindi Paper, Jagran News, Uttarakhand online,Hindi News Paper, Live Hindi News in Hindi, न्यूज़ इन हिन्दी हिंदी खबर, Latest News in Hindi, हिंदी समाचार, ताजा खबर, न्यूज़ इन हिन्दी, News Portal, Hindi Samachar,उत्तराखंड ताजा समाचार, देहरादून ताजा खबर

* तुरन्त गुस्सा

Spread the love
krint
Kranti Bhatt

* तुरन्त गुस्सा . क्रोध और आक्रामक प्रतिक्रिया निजी जीवन में भी कमजोर ब्यक्ति की पहचान है ।राष्ट्र स्तर भी यही अटल सत्य है ।धीर गम्भीर ब्यक्ति और राष्ट्र समय पर उत्तर देता है ।
उडी हमले के बाद पूरे देश में पाकिस्तान के खिलाफ जबरदस्त आक्रोश है । राष्ट्र भावना है जो स्वभाविक भी है । पाकिस्तान की हालत भी जीवन में उस कमजोर और हमेशा लडने की प्रवृति वाले ब्यक्ति की तरह है ।उसकी हरकत का क्या जबाब है . भारतीय सेना कह दिया है ” पाकिस्तान की हरकत का जबाब जरूर देंगे . समय और स्थान हम तय करेंगे ।सही कहा ।
“” नीति कहती है कि बदला वह डिश है जो ठंडा होने पर ही स्वाद देता है ।
** महाभारत में भी प्रसंग आया है कृष्ण ने शिशुपाल की 100 गलतियों को इग्नोर किया वह बाज नहीं आया और धृष्टता को अपनी ताकत और कृष्ण की कमजोरी मानता रहा . पर ज्योंही कृष्ण को लगा कि मेरी विनम्रता को शिशुपाल कमजोरी समझ रहा है ठंडे मस्तिष्क से वह जबाबी कार्यवाही की कि शिशुपाल का अंत हो गया ।
भगवान राम ने समुद्र से निवेदन और प्रेम की भाषा बोली . अर्चना की ।वह भी इसे कमजोरी समझा ।लक्ष्मण को क्रोध आया तुरन्त जबाब देने की बात कही ।भगवान राम ने कहा कमजोर है और हमारा भी है कुछ देर और समझाते हैं समुद्र ने अहंकार में आकर पुनः भगवान की विनम्रता को कमजोरी समझा ।तीन दिन बीत गये ।भगवान ने तब हथियार उठाये और कांपते समुद्र ने क्षमा मांगते हुये समझ लिया कि शान्त ब्यक्ति और ताकतवर ब्यक्ति जब क्रोधित होता है तो उसका विनाश तय है जो शान्त ब्यक्ति को कमजोर समझता है ।
पश्चिम के दार्शनिक मैकियावैली ने भी कहा है कि युद्ध में हथियार भी और कूटनीति भी पैनी होने चाहिए ।पर कब कैसे और कहां इस्तेमाल करें यह भी कौशलता है।
पतले तवे की तरह गरमाये पाकिस्तान को बदला ठंडे ब्यंजन की ही तरह दिया जायेगा ।तरीका क्या होगा देखना होगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.