udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news पानी में बहा यमुनोत्री हाईव का 240 मीटर हिस्सा » Hindi News, Latest Hindi news, Online hindi news, Hindi Paper, Jagran News, Uttarakhand online,Hindi News Paper, Live Hindi News in Hindi, न्यूज़ इन हिन्दी हिंदी खबर, Latest News in Hindi, हिंदी समाचार, ताजा खबर, न्यूज़ इन हिन्दी, News Portal, Hindi Samachar,उत्तराखंड ताजा समाचार, देहरादून ताजा खबर

पानी में बहा यमुनोत्री हाईव का 240 मीटर हिस्सा

Spread the love

2

उत्तराखंड में बारिश का कहर बेहद भारी पड़ रहा है। जगह-जगह पर बारिश के कारण जान एवं माल की हानी हो रही है। कई स्थानों पर रास्ते क्षतिग्रस्त हेा गए हैं तो पहाड़ों से गिरने वाला मलबा लोगों की जान का दुश्मन बन रहा है। पहाड़ों में लगातार बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने अगले दो दिनों में भी भारी बारिश की चेतावनी दी है। एहतियात के तौर पर सरकार ने सभी संबंधित राहत दलों केा तैयार रहने के निर्देश दिए हैं।
लगातार हो रही बारिश के बीच अब उतरकाशी में बादल फटने से जिले में भारी नुकसान की सूचना है। इस घटना में क्षेत्र के तीन मकान बह गए। जबकि 27 मार्ग क्षतिग्रस्त हैं। गंगोत्री और यमुनोत्री हाइवे पर भी भारी नुकसान हुआ है। स्थानीय लोगों का कहना है कि उत्तरकाशी में बादल फटने से जिले के कई इलाकों में भारी क्षति हुई है। बादल फटने के कारण गंगोत्री हाइवे और यमुनोत्री हाइवे को भी नुकसान हुआ है। साथ ही तीन लोगों के मकान बह गए। गंगोत्री और यमुनोत्री हाइवे पर आवागमन पूरी तरह से बंद है जिसे खोलने के लिए प्रशासन एवं राहत टीमें लगातार लगी हुई हैं। बताया जा रहा है कि असी गंगा घाटी में बादल फटने से इलाके में तबाही मच गई। यमुनोत्री हाइवे पाली गाड के पास बंद होने की सूचना है। साथ ही गंगोत्री हाइवे नालूपानी, हेल्कू गाड मल्ला के पास भी सड़क क्षतिग्रस्त होने से आवाजाही बंद है।
बताया जा रहा है कि इस प्राकृतिक आपदा के कारण यमुनोत्री हाइवे 240 मीटर बह चुका है और दोनों तरफ वाहनों की लाईनें लगी हुई है। जिल प्रशासन की ओर से बताया गया है कि यमुनोत्राी राजमार्ग के पाली गाड़ के पास कोट गंगा में अचानक भारी बारिश से आये उफान से बीती देर रात ग्रामीण गोकुल सिंह पुत्र नथी सिंह, हरदेव सिंह पुत्र बचन सिंह और चतर सिंह पुत्र केवल सिंह के मकान पानी के तेज बहाव में बह गए, जिन्हें बाद में बचा लिया गया था। टिहरी क्षेत्र में भी भारी बारिश के चलते टिहरी में जनजीवन बुरी रह प्रभावित हो गया। जिले के 25 संपर्क मार्ग बंद हो गए।
पहाड़ी से लगातार भूस्खलन होने से आसपास की सड़कों पर मलबा आ रहा है। वहीं कोटी कालोनी को जाने वाली सड़क मलबे के कारण बंद हो गई। भारी बारिश के कारण दूसरे क्षेत्रों में भी जलभराव की स्थिति पैदा हो रही है। लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। केदारनाथ मार्ग कई स्थानों पर बंंद है जहां से यात्रियों को निकालने के लिए एनडीआरएफ एवं बीआरओ की टीमे लगातार प्रयास कर रही हैं। वहीं उत्तरकाशी व इसके आसपास के क्षेत्रों में भी जमकर बारिश हुई। उत्तरकाशी केदारनाथ मार्ग के पास चार घंटे तक बंद रहा। इसके साथ ही जिले के दो सम्पर्क मार्ग भी बाध्ति हुए। साथ ही पर्यटकों को भारी परेशानी का सामना भी करना पड़ा। क्षेा में पूरी रात बारिश होती रही जिस कारण जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। बारिश के कारण पहाड़ी से जमकर मलबा आया। जिससे लंबगांव, घनसाली, श्रीनगर, केदारनाथ जाने वाले वाहनों को खड़ा रहना पड़ा। मौसम विभाग ने अभी भी अगले दो दिन भारी बारिश की चेतावनी दी है जिसके कारण सभी प्रकार के एहतियात बरते जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.