udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news विजय माल्या की विंटिज कारें खरीदने की होड़ » Hindi News, Latest Hindi news, Online hindi news, Hindi Paper, Jagran News, Uttarakhand online,Hindi News Paper, Live Hindi News in Hindi, न्यूज़ इन हिन्दी हिंदी खबर, Latest News in Hindi, हिंदी समाचार, ताजा खबर, न्यूज़ इन हिन्दी, News Portal, Hindi Samachar,उत्तराखंड ताजा समाचार, देहरादून ताजा खबर

विजय माल्या की विंटिज कारें खरीदने की होड़

Spread the love

मुंबई। विजय माल्या की संपत्तियों की हालिया नीलामी पहले की नीलामी से बिल्कुल हटकर थी। पिछले सप्ताह माल्या की विंटिज कारों के कलेक्शन को खरीदने की होड़ मच गई।वहीं, बैंक किंगफिशर एयरलाइंस की संपत्तियों को बेचने की जद्दोजहद कर रहे हैं।
दुनियाभर में शराब का कारोबार करनेवाली दिग्गज कंपनी डायाजियो के नियंत्रण वाली कंपनी यूनाइटेस स्प्रीट्स ने माल्या की 30 विंटिज कारों को नीलामी के लिख रख दिया। गौरतलब है कि छह महीने पहले ही माल्या ने यूनाइटेड स्प्रिट्स का चेयरमैन पद छोड़ा था। नीलामी के लिए रखी गई कारों में एक 1903 हम्बर भी है जिसके बारे में कहा जाता है कि यह देश की सबसे पुरानी चलती-फिरती कार है।
25 अगस्त को शुरू हुआ ऑनलाइन ऑक्शन काफी धमाकेदार रहा क्योंकि इसके आयोजकों क्विपो वैल्युअर्स और नीलामीकर्ताओं ने अगले दिन सुबह 4 बजे तक सेशन जारी रखा। सूत्र ने बताया, लगातार बोली लगने से नीलामी का आखिरी समय 10-10 मिनट के लिए बढ़ता गया। सूत्रों के मुताबिक, यह अपने आप में देश की पहली नीलामी थी। लेकिन, यूनाइटे स्प्रिट्स ने सफलतापूर्व बोली लगने के बाद भी बिक्री को कैंसल करने का अधिकार अपने पास रखा है जिससे ऊंची-ऊंची बोलियां लगानेवालों को चिढ़ हो रही है। सूत्र बताते हैं कि एक-दो दिन में आखिरी फैसले की घोषणा हो जाएगी।
बैंकों का कर्ज नहीं चुकाने के मामले में कई मुकदमे झेल रहे विजय माल्या विंटिज और क्लासिक कारों के शौकीन रहे हैं। कहा जाता है कि माल्या के पास ऐसी 100 कारें हैं, लेकिन यह स्पष्ट नहीं हो रहा है कि इन कारों के देस्तावेजों पर उनका नाम है भी या नहीं। इसी संदर्भ में यूनाइटेड स्प्रिट्स ने कहा कि कारें उनकी गैर-महत्वपूर्ण संपत्तियां हैं। इन्हें कंपनी का कर्ज कम करने के लिए बेचा गया। कंपनी पर 31 मार्च 2016 तक कुल 4,000 करोड़ रुपये का कर्ज था।
ये कारें मुंबई, गोवा, दिल्ली, बेंगलुरु और कोलकाता में हैं। कंपनी के अंदर के एक व्यक्ति ने कहा कि 1903 हम्बर की करीब 1 करोड़ रुपये जबकि अंग्रेजों द्वारा बनाई गई कार लैंकास्टर के लिए करीब 2 करोड़ रुपये की बोली लगी है। बेंटली टर्बो आर, 2010 रोल्ज रॉयस फैंटम, एक विंटिज रोल्ज रॉयस, एमरल्ड ग्रीन वूल्जली सैलून विंटिज और एक लैन्सिया विंटिज के लिए काफी ऊंची बोलियां लगीं। 2012 मारुति रित्ज जैसे विंटेज कलेक्शन के भी कई खरीदार मिले।
बोली लगानेवालों में एक ने मुंबई मिरर को बताया, ऑक्शन के लिए रखी गई 30 ऑड कारों में आठ कारें विंटिज कैटिगरी की थीं। ये सभी बिक गईं। उन्होंने बताया कि बोली लगानेवाले ज्यादातर लोग माल्या से परिचित हैं। विंटेज ऐंड क्लासिक क्लब ऑफ इंडिया के प्रेजिडेंट नितिन दोसा ने इस नीलामी पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। करीब 80 शानदार कारों के मालिक दिलजीत टिटुस ने कहा कि इस नीलामी के बारे में उन्होंने नहीं सुना था। उन्होंने बताया कि वह देश से बाहर थे, इसलिए उन्होंने निलामी में भाग नहीं लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.