rap/उत्तराखंड में देवी तुल्य मानते हुए पूजी जाने वाली बालिकाओं के साथ गैंगरेप!

Spread the love

देवों की नगरी उत्तराखंड में अब हैवानियत सरेआम नजर आने लगी है। जहां एक ओर राज्य सरकार महिलाओं की सुरक्षा-हितों के लिए योजनाओं को लागू करने की बात कहती आ रही। वहीं पर्वतीय इलाकों में आए दिन मासूम बालिकाओं के साथ हो रहे गैंगरेप के मामले पहाड़ में महिला वर्ग के साथ हो रही हैवानियत की तस्वीर उजागर करते हैं। बीती रोज प्रदेश में स्कूली बालिकाओं के साथ दो जगह गैंगरेप के मामले प्रकाश में आए। हालांकि पुलिस ने छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

उत्तराखंड में देवी तुल्य मानते हुए पूजी जाने वाली बालिकाओं के साथ गैंगरेप की घटनाएं हालिया समय ही नहीं बल्कि कई सालों से लगातार सामने आने वाली आपराधिक घटनाओं में से एक हो रही है। 16 दिसंबर 2012 केा दिल्ली में नर्सिंग की छात्रा से सामुहिक दुराचार की घटना के बाद देशभर में महिलाओं-बालिकाओं की सुरक्षा को लेकर लोग मशाल लेकर अंादोलन करने भी निकले थे। यहां उत्तराखंड में भी महिलाओं की सुरक्षा को लेकर सरकारी स्तर पर अनेकों घोषणाएं लागू कराए जाने का ढोल पीटा गया था। मगर हालिया समय जिस तरह से महिला वर्ग संबंधी अपराध ताबड़तोड़ घटित हो रहे हंै, उसके आगे सरकारी प्रयास तिनका मात्र नजर आ रहे हैं।

देवनगरी में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ होना, गैंगरेप की घटनाएं महानगरों की तर्ज पर अंजाम दी जाने लगी हैं। एक ओर राज्य सरकार मातृशक्ति को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न विकास योजनाओं को धरातल पर उतारने का फरमान सुनाती है। उधर यह तमाम आदेश और निर्देश सिर्फ मैदानी इलाकों तक सिमटकर रह जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.