udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news आईएमए में चयनित 140 युवाओं को  किया सम्मानित

आईएमए में चयनित 140 युवाओं को  किया सम्मानित

Spread the love

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रविवार को मुख्यमंत्री आवास में रक्षा मंत्री, भारत सरकार श्रीमती निर्मला सीतारमण तथा थल सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत की उपस्थिति में भारतीय सैन्य अकादमी व राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में चयनित उत्तराखण्ड के 140 युवाओं को प्रशस्ति पत्र तथा  50-50 हजार रूपये की धनराशि प्रदान करके सम्मानित किया।

 

ज्ञातव्य है कि उच्च शिक्षा विभाग द्वारा वर्ष 2014 से वर्ष 2018 तक एनडीए तथा आईएमए में चयनित राज्य के 140 युवाओं को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर विक्टोरिया क्रॉस पदक प्राप्त स्व0 गब्बर सिंह नेगी, स्व0 दरबान सिंह नेगी, स्व0 वीरचन्द्र सिंह गढ़वाली, पूर्व सेना प्रमुख स्व0 वी.सी. जोशी एवं स्व0 श्री बाबा जसवंत सिंह के परिजनों के साथ ही अपने पति की शहादत के पश्चात सेना में कमीशन प्राप्त करने वाली कै0 प्रिया शर्मा सेमवाल, संगीता मल्ल, फलाईंग ऑफिसर अनुपमा जोशी व नेवल ऑफिसर वर्तिका जोशी की माता जी डॉ0 अल्पना जोशी को भी सम्मानित किया गया। इसके साथ ही ऐसे परिवार जिनकी तीन पीढिय़ो द्वारा सेना में अपनी सेवाएं दी गई को भी सम्मानित किया गया।

 

मुख्यमंत्री ने कहा मुख्यमंत्री निवास में सैनिकों के सम्मान समारोह के आयोजन होने से वह गौरान्वित अनुभव कर रहे है। सरकार हर कदम पर सैनिक तथा उनके परिवारों के साथ है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रक्षा मंत्री जैसे अहम मंत्रालय की जिम्मेदारी श्रीमती निर्मला सीतारमण को दी इससे यह संदेश गया कि  देश अपनी  बेटियों  पर भरोसा करता है, बेटियाँ सब कुछ कर सकती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी प्रकार के सहयोग हेतु सैन्य अधिकारियों का मुख्यमंत्री निवास में सदैव स्वागत है। राज्य सरकार सैनिकों की किसी भी प्रकार की सहायता करने हेतु हर समय तैयार है।

 

रक्षा मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने कहा कि उत्तराखण्ड देवभूमि के साथ ही वीरभूमि भी है। राज्य के 21 वीर सपूतों को परमवीर चक्र प्राप्त हो चुके है। यहां विक्टोरिया क्रॉस प्राप्त करने वाले वीर सैनिक भी है तथा तीन पीढिय़ों तक सेना में सेवाएं देने वाले परिवार भी है। थल सेनाध्यक्ष भी उत्तराखण्ड के है। उत्तराखण्ड के हर परिवार से एक सदस्य सेना में है। भारत की रक्षा में उत्तराखण्ड का महत्वपूर्ण योगदान है। वह इस देवभूमि व वीरभूमि जिस पर भगवान के आशीर्वाद के साथ ही भारत माता का आशीर्वाद भी प्राप्त है, को सादर नमन करती है।

 

आईएमए व एनडीए के चयनित कैडेटस को सम्बोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि आने वाले समय में आप सभी एक अत्याधुनिक सेना का हिस्सा बनने जा रहे है।  आर्मी, नेवी तथा एअर फोर्स को आधुनिक बनाने के लिये प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा बहुत सी नई पहल की जा रही है। सेना की तैयारी के सम्बन्ध में रक्षा मंत्री श्रीमती सीतारमण ने कहा कि सेना की तैयारी में जरा भी कही कोई कमी नही है। सेना हेतु राज्य के युवाओं को प्रशिक्षण देने वाले निम के निदेशक कर्नल अजय कोठियाल की प्रंशसा करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि कर्नल कोठियाल जैसे सेल्फ मोटिवेटेड लोग सभी को प्रेरणा देते है। रक्षा मंत्री ने कहा कि सरकार सैनिक तथा उनके परिवारों को हर सहायता देने हेतु सदैव तत्पर है। उन्होंने उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में आधुनिक सुविधाओं युक्त कमंाड हॉस्पिटल स्थापित करने की बात कही।

 

स अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री डा0 धन सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखण्ड का सेना में 18 प्रतिशत योगदान है। देश की सुरक्षा में राज्य को महत्वपूर्ण योगदान है। राज्य सरकार सैनिक व उनके परिवार के कल्याण हेतु प्रतिबद्ध है। 3 लाख से कम आय वाले परिवार के 50 बच्चों को एनडीए तथा सीडीएस की निशुल्क कोचिंग सरकार द्वारा दी जायेगी। उत्तराखण्ड देश का पहला राज्य है जो शहीदों के परिजनों को नौकरी प्रदान करता है।

ार्यक्रम को थल सेनाध्यक्ष अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत, सांसद श्रीमती माला राज्य लक्ष्मी शाह, विधायक गणेश जोशी व मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भटट, अन्य गणमान्य तथा सम्मानित होने वाले छात्रो के अभिभावक, एनसीसी केडेटस बड़ी संख्या में उपस्थित थे।