udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news आगनबाडी कार्यकत्री के स्पष्टीकरण लेने के निर्देश डी.पी.ओ को दिए

आगनबाडी कार्यकत्री के स्पष्टीकरण लेने के निर्देश डी.पी.ओ को दिए

Spread the love

रूद्रप्रयाग:  शिक्षा, बाल विकास, चिकित्सा, आईसीडीएस विभाग की समीक्षा बैठक जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल की अध्यक्षता में जिला कार्यालय में आयोजित की गयी। शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान उपशिक्षाधिकारी अगस्त्यमुनि द्वारा लगभग सात (सीआरसी) के वेतन आहरित न करने पर उपशिक्षाधिकारी का वेतन तब तक आहरित न करने के निर्देश जिला शिक्षाधिकारी बेसिक को दिए जब तक उक्त सीआरसी का वेतन नही निकल जाता।

बुखार, उल्टी-दस्त व अन्य कारणों से मृत्यु होने वाली शिशुओं की जानकारी ए.एन.एम द्वारा सी.एच.सी इन्चार्ज को न देने पर सम्बन्धित ए.एन.एम के स्पष्टीकरण, आरबीएसके की टीम द्वारा आग्नबाड़ी केन्द्र मंे उपस्थिति ठीक न पाये जाने पर संबंधित आगनबाडी कार्यकत्री के स्पष्टीकरण लेने के निर्देश डी.पी.ओ को दिए। आशाओं द्वारा गाँव में परिवार नियोजन की व्यापक जानकारी न देने पर अभी भी कुछ लोगों द्वारा पाँच-पाँच बच्चे करने पर सम्बन्धित आशाओं के स्पष्टीकरण लेने के निर्देश दिए। कहा कि आशाओं द्वारा गाँव-गाँव में घर-घर जाकर परिवार नियोजन, बच्चों के बीच सही अन्तर की जानकारी दी जाए।

ऊखीमठ ब्लाॅक के दूरस्थ क्षेत्र के गाँव में सप्ताह में एक दिन जिला चिकित्सालय के चिकित्सक द्वारा टेलीमेडिसन से स्वाथ्य उपचार हेतु कार्ययोजना बनाने के निर्देश सीएमओ को दिए। कहा कि लोकल इन्ट्रनेट के माध्यम से सम्बन्धित ग्राम को जोडकर स्वास्थ्य सेवा प्रदान की जाएगी।

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जखोली पीपीपी मोड से हटाने के बाद ओ.पी.डी. में सुधार आया है जिससे पता चलता है कि सरकारी डाॅक्टर अच्छा कार्य कर रहे है व जनता का भरोसा सी.एच.सी. पर बडा है। जल सक्रमंण से होने वाली बीमारी के क्षेत्र में बचाव हेतु जल संस्थान को टैंक सफाई के अभियान चलाने के निर्देश दिए।

कहा कि सामुदायिक प्रतिभागिता से वृहद अभियान चलाया जाए। इसके साथ ही स्कूलों में जागरूकता अभियान चलाने के भी निर्देश शिक्षाधिकारी को दिए।
इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 एस.के. झा, सीएमएस डीसी सेमवाल, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 ओपी आर्य, जिलाशिक्षाधिकारी माध्यमिक एल.एस. दानू, वेसिक शिक्षाधिकारी विद्याशंकर चतुर्वेदी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।