अधिकारियों को एक माह के भीतर शिकायतों को निस्तारित करने के निर्देश

Spread the love

रूद्रप्रयाग: कालीमठ घाटी के सीमान्त क्षेत्र राजकीय इन्टर कालेज कोटमा ऊखीमठ में मुख्य विकास अधिकारी डीआर जोशी की अध्यक्षता में आयोजित तहसील दिवस ऊखीमठ मेें 48 शिकायत दर्ज कराई गयी जिनमें से 30 शिकायतो को मौके पर निस्तारण किया गया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने अधिकारियों को एक माह के भीतर शिकायतों को निस्तारित करने के निर्देश दिये गये।

 

 

तहसील दिवस में फरियादी विमल चन्द्र शुक्ला ने कवि चन्द कुंवर बत्र्वाल की तपःस्थली पवालियां में कृषि विश्वविद्यालय खोलने की मांग की जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने आश्वासन दिया कि मांग को शासन स्तर पर प्रेषित किया जायेगा।

 

 

जाल तल्ला के ग्रामीणों ने गांव के निचले हिस्से में वर्ष 2013 में आये भूस्खलन का मुआवजा न मिलने की शिकायत पर लोक निर्माण विभाग ने बताया कि मुआवजे की पत्रावलियां तैयार की जा चुकी है। पूर्व प्रधान लक्ष्मण सिंह ने बताया कि 06 फरवरी 2017 को कालीमठ घाटी में आये भूकम्प से प्रभावित कई परिवारों को मुआवजा नही मिल पाया है।

 

 

इस संबंध में उपजिलाधिकारी ने बताया कि कुछ परिवारों को मुआवजा वितरित किया जा चुका है तथा शेष परिवारों के मुआवजे की पत्रावली तैयार की जा चुकी है। उक्त संबंध में कालीमठ घाटी के समस्त जनप्रतिनिधियों ने एक स्वर मंे मांग की कि कालीमठ घाटी के मुआवजे हेतु पुनः सर्वे किया जाय।

 

 

प्रधान कोटमा ने बताया कि आपदा के समय रूच्छ महादेव में क्षतिग्रस्त स्नानघाटए पुलए हॉल के निर्माण न होने की शिकायत पर सिंचाई विभाग द्वारा अवगत कराया गया कि आपदा से क्षतिग्रस्त कार्यो के पुननिर्माण के लिए रू 56ण्08 लाख की स्वीकृत प्राप्त हो गयी है। इस संबंध में विभाग द्वारा निविदा भी खोली जा चुकी है तथा ही कार्य प्रारम्भ किया जायेगा।

 

 

कालीमठ घाटी के जनप्रतिनिधियों ने केदारनाथ मोटर मार्ग निर्माण की मांग की जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने लोनिवि व केदारनाथ वन्यजीव प्रभाग को आंकलन तैयार करने के निर्देश दिये। जाल मल्ला के पूर्व प्रधान ने कोटमा के बजाय चैमासी तक रसोई गैस की आपूर्ति करने की मांग की जिस पर पूर्ति विभाग को चैमासी तक रसोई गैस सप्लाई करने के निर्देश दिये गये।

 

 

इस अवसर पर ब्लॉक प्रमुख सन्तलालए जिला पंचायत सदस्य संगीता नेगीए एसडीम गोपाल सिंह चैहानए तहसीलदार अबरार अहमद सहित ग्रामीण एवं अधिकारी उपस्थित थे।