udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news आखिरकार किन वजहों से सवा करोड़ की नौकरी छोड़ रहे सिलिकन वैली के इंजिनियर?

आखिरकार किन वजहों से सवा करोड़ की नौकरी छोड़ रहे सिलिकन वैली के इंजिनियर?

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नईदिल्ली । सिलिकन वैली के इंजिनियरों को सालाना लगभग दो लाख डॉलर (करीब 1.28 करोड़ रुपये) का पैकेज मिलता है। इसके अलावा उन्हें हर रोज भोजन, योग एवं लाइफ कोचिंग जैसी सुविधाएं भी दी जाती हैं। फिर भी कई लोगों के लिए काम करने के लिहाज से यह बहुत मजेदार जगह नहीं है। खासकर महिला और वैसे अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के लिए जिनकी तादाद यहां बेहद कम है। फरवरी महीने में एक महिला कर्मचारी ने उत्पीडऩ और भेदभाव की डरावनी कहानी बयां की तो ऊबर के कई कर्मचारी एक-एक कर कंपनी छोडऩे लगे।

 
एक और मामला क्लीनर पर्किंस की है। एक पूर्व कर्मचारी एलन पाओ ने कंपनी पर मुकदमा दायर कर दिया। उनका आरोप था कि उन्हें महिला होने की वजह से प्रमोशन नहीं दिया गया और उन्हें बिजनस डिनर्स में भी शामिल नहीं किया गया क्योंकि पुरुष सहकर्मियों को लगता था कि वहां महिला की मौजूदगी काम खराब कर सकती है। टेक्नॉलजी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी ऑरेकल और गूगल पर भी महिला और अल्पसंख्य समुदाय के कर्मचारियों के साथ भेदभाव करने के आरोप में केस दर्ज हुए।

 
एक नए अध्ययन में इन मामलों से बढ़-चढक़र कई मामले सामने आए। ऑकलैंड, कैलिफॉर्निया स्थित गैर-लाभकारी संस्था ने वैसे 2,000 लोगों से पूछताछ की जिन्होंने पिछले तीन सालों में टेक्नॉलजी सेक्टर की अपनी-अपनी नौकरियां छोड़ दीं। उनसे पूछा गया कि उन्होंने आखिर सिलिकन वैली छोडऩे का निर्णय क्यों लिया? क्या उन्हें बेहतर नौकरी के ऑफर मिले थे? क्या उन्होंने बच्चों की देखभाल के लिए नौकरी छोड़ी? क्या वो कम दूरीवाले दफ्तरों में नौकरी करना चाहते हैं?

 
इन सवालों के जो जवाब आए, वो बिल्कुल हैरान करनेवाले हैं। उनके जवाबों से यह खुलकर सामने आ गया कि इतनी प्रतिष्ठित नौकरियों में भी कुछ खास तरह के लोगों के प्रति किस तरह का दुर्यव्यवहार होता है। इसमें पता चला कि किसी व्यक्ति के बैकग्राउंड की वजह से अन्य लोगों की तुलना में उनके साथ किस तरह बिल्कुल अलग व्यवहार होता है।

 
हर बैकग्राउंड के लोगों ने एक सुर में माना कि उन्हें नौकरी छोडऩे के पीछे का सबसे बड़ा कारण भेदभाव और दुर्व्यवहार रहा है। नौकरी छोडऩेवाले 37 प्रतिशत लोगों ने कहा कि नौकरी छोडऩे का सबसे बड़ा कारण यही रहा। सभी ने कहा कि सिलिकन वैली में भर्तियों के वक्त दूसरे जगहों की तुलना में ज्यादा भेदभाव होता है।

 
टेक इंडस्ट्री के वर्करों की तुलना दूसरी इंडस्ट्री के लोगों से की गई तो पाया गया कि टेक इंडस्ट्री के लोगों ने भेदभाव की वजह से नौकरी छोडऩे की बात ज्यादा कही। स्टडी में यह हैरतअंगेज तरीके से सामने आया कि एक ही जगह पर काम करने का अनुभव जाति, लिंग, और यौन आग्रहों के आधार पर अलग-अलग होता है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •