udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news अनोखा ऑफर : इटली के खूबसूरत कंडेला गांव में रहने के मिलेंगे पैसे !

अनोखा ऑफर : इटली के खूबसूरत कंडेला गांव में रहने के मिलेंगे पैसे !

Spread the love

उदय दिनमान डेस्कः अनोखा ऑफर : इटली के खूबसूरत कंडेला गांव में रहने के मिलेंगे पैसे !यहां के मेयर ने इसकी घोषणा की है और लोग इसमें दिलचस्पी दिखा रहे है।खाली होने की कगार पर पहुंचे इस गांव की कहानी कुछ उत्तराखंड के खाली होते गांवों की तरह ही है। वहां की सरकार का यह कदम फायदेमंद साबित हो रहा है।

 

सोशल मीडिया पर जब इस खबर पर मेरी नजर पडी तो मुझे उत्तराखंड के खाली गांव ऑखों के सामने दिखने लग गए। मेरी जिज्ञासा सिर्फ इतनी थी कि आखिर क्या है इस गांव में तो खबर को पढा और वहां के मेयर का यह साहसिक कदम अपने आप में अनोखा लगा। वहां की कहानी भी रोजगार की कमी के चलते गांव खाली होने की थी। इस समस्या से निपटने के लिए वहां के मेयर ने इसकी घोषणा की। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस खबर के बारे में आप भी जाने कि आखिर क्या है और क्या यह सकारात्मक कदम है या नहीं।

 

सोशल मीडिया पर वायरल खबर के अनुसार, इटली का एक शहर लोगों को वहां रहने के लिए पैसों का ऑफर दे रहा है। इटली के कंडेला शहर के मेयर निकोला गैटा ने शहर की घटती आबादी को लेकर यह कदम उठाया है। मेयर निकोला गैटा के अनुसार वह शहर की आबादी को फिर से 1990 के जैसा 8000 करना चाहते हैं और इसलिए उन्होंने यह फैसला किया है। अभी इस शहर की आबादी मात्र 2700 है।

मेयर गैटा के अनुसार इस जगह की गलियां वेंडर्स, लोगों और पर्यटकों से भरी रहती थी। अर्थव्यवस्था में आई दिक्कतों के कारण कई लोग खासकर युवा काम की तलाश में बाहर चले गए। इसके बाद इस समस्या के समाधान के लिए कई उपाय खोजे गए। मेयर ने इस ऑफर के तहत सिंगल लोगों को 800 यूरो और कपल्स को 1200 यूरो देने का फैसला किया है।

 

वहीं 3 से 5 सदस्यों वाले परिवार को 1500 से 1800 से यूरो दिए जाएंगे। इस कैश को पाने के लिए लोगों को कंडेला जाना होगा और वहां 7500 यूरो प्रति वर्ष की नौकरी करनी होगी। 6 परिवार पहले ही नॉर्थ इटली से यहां रहने आ चुके हैं जबकि 5 अन्य परिवार इस प्रोसेस में लगे हुए हैं।इस फैसले के मुताबिक लोगों को पैसों के अलावा काउंसिल बिल पर टैक्स क्रेडिट के साथ-साथ चाइल्ड केयर की भी सुविधा दी जाएगी। मेयर के साथ काम करने वाले एक कर्मचारी ने बताया कि वहां की लाइफ क्वॉलिटी भी काफी बेहतर है।

 

जैसा कि आप जानते हैं कि उत्तराखंड राज्य के भी यही हाल हो रखे हैं यहां के गांवों में अब चूहे और अन्य छोटे जानवारों के साथ जंगली जानवरों का बसेरा बना हुआ है। राज्य के पहाडी जनपदों के अधिसंख्य गांव आज वीरान हो गये है। राज्य बने इतना लंबा समय हो गया लेकिन अभी तक की सरकारों ने इस दिशा में कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाये। इस खबर को पढने के बाद शायद यहां के रहनूमा भी जाग जाए और यहां के पहाडों से हो रहे पलायन को रोकने के लिए कुछ अनोखा प्रयोग कर सके।