udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news अतिक्रमण अभियान: पराए तो पराए अपने ही बन रहे रोड़ा !

अतिक्रमण अभियान: पराए तो पराए अपने ही बन रहे रोड़ा !

Spread the love

देहरादून: अतिक्रमण अभियान: पराए तो पराए अपने ही बन रहे रोड़ा !जी हां! यह सत्य है उत्तराखंड की अस्थाई राजधानी देहरादून में अतिक्रमण के खिलाफ चल रहे अभियान में सत्ता पक्ष और विपक्ष एक जुट हो कर इसके खिलाफ संयुक्त धरना दे रहा है। ऐसे में सरकार की मुसीबते बढ़ना लाजमी है। यह बात हो रही है देहरादून की।

 

आपको बता दें कि हाईकोर्ट के आदेश पर हटाया जा रहे अतिक्रमण के खिलाफ सत्ता और विपक्ष के वर्तमान और पूर्व विधायक प्रेम नगर क्षेत्र के व्यापारियों के समर्थन में आ गए।ऐसे में इस अभियान का क्या हर्ष होगा और क्या हाईकोर्ठ के आदेशों पर चले इस अभियान को सफलता मिलेगी यह तो भविष्य के गर्त में है।

 

उल्लेखनीय है कि  हाईकोर्ट के आदेश पर हटाया जा रहे अतिक्रमण के खिलाफ सत्ता और विपक्ष के वर्तमान और पूर्व विधायक प्रेम नगर क्षेत्र के व्यापारियों के समर्थन में आ गए। विधायकों ने सुबह प्रेमनगर बाजार पहुंचकर व्यापारियों के साथ धरना दिया। विधायकों का कहना है कि अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई एक तरफा की जा रही है। इसका पुरजोर विरोध किया जाएगा। इधर, व्यापारियों ने खुद भी अतिक्रमण हटाना शुरू कर दिया है।

 

रातभर व्यापारियों ने अपनी अधिकांश दुकानें खाली कर दी थी। विधायकों के आने से अतिक्रमण अभियान को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है। कुछ लोग अतिक्रमण की कार्यवाही स्थगित होने की अफवाह भी फैला रहे हैं। हालांकि प्रशासन का कहना है कि तय समय पर प्रेम नगर बाजार का अतिक्रमण हटाया जाएगा।व्यापारियों के धरने में समर्थन में बैठे कैंट विधायक हरवंश कपूर, राजपुर विधायक खजानदास, रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ, कांग्रेस के उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना आदि सुबह से ही धरने पर बैठ गए।

 

रविवार देर शाम जैसे ही प्रेमनगर के लोगों को सोमवार सुबह से अतिक्रमण पर जेसीबी चलने की सूचना मिली, वहां अफरातफरी मच गई। लोग देर रात तक अपना सामान समेटने रहे। उधर, प्रशासन ने भी लोगों से जल्द से जल्द अपना सामान समेटने को कहा है।हाईकोर्ट के आदेश के बाद शहर में चल रहे अतिक्रमण हटाओ अभियान में आज प्रशासन की जेसीबी प्रेमनगर के अतिक्रमण पर गरजनी तय थी।

यह सूचना मिलते ही प्रेमनगर के व्यापारियों में खलबली मच गई। आनन-फानन में सभी व्यापारियों ने अपनी दुकानें खाली करनी शुरू कर दीं। टेम्पो व लोडर में भरकर अपने सामान को सुरक्षित जगह पहुंचाने लगे। यह काम देर रात तक चलता रहा। इससे पहले शनिवार को राज्य सरकार के उच्चतम न्यायालय जाने की खबर से खुश होकर प्रेमनगर के व्यापारियों ने एक-दूसरे को मिठाइयां बाटी थीं।

इतना ही नहीं शनिवार और रविवार दोपहर तक सभी ने अपनी दुकानें भी खोले रखीं। लेकिन जैसे ही रविवार देर शाम प्रशासन की ओर से अतिक्रमण पर जेसीबी चलाने की खबर मिली, सभी प्रभावित व्यापारी दुकानें खाली कर सामान को सुरक्षित जगह पहुंचाने में जुटे रहे। वहीं, आज सोमवार को प्रेमनगर बाजार बंद है।