udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news बर्फबारी: खिले पहाड़, निखरी वादियां,निचले इलाकों में बारिश,गिरा तापमान !

बर्फबारी: खिले पहाड़, निखरी वादियां,निचले इलाकों में बारिश,गिरा तापमान !

Spread the love

कुल्लू :  बर्फबारी: खिले पहाड़, निखरी वादियां,निचले इलाकों में बारिश,गिरा तापमान ! हिमाचल में बर्फबारी क्रम जारी हो चुका है सोलांग वैली और रोहतांग दर्रे ने बर्फ की चादर ओढ़ ली है। जिला कुल्लू को आउटर सिराज से जोड़ने वाला एक मात्र एनएच 305 औट-लुहरी-सैंज मार्ग बर्फबारी के कारण यातायात के लिए बाधित हो गया है। जलोड़ी दर्रा बंद होने से एनएच-305 पर वाहनों की आवाजाही पर रोक लग गई है।

 

लगातार बर्फबारी से 10280 फीट की ऊंचाई पर स्थित जलोड़ी दर्रे में करीब आधा फीट से अधिक बर्फबारी हो चुकी है और अभी भी बर्फबारी का दौर लगातार जारी है। इस कारण बंजार उपमंडल के सोझा से आगे वाहनों की आवाजाही नहीं हो सकी। वीरवार को जिला कुल्लू के उपरी इलाकों में हुई बर्फबारी व निचले इलाकों में बारिश होने से जहां तापमान में गिरावट आई है। वहीं इससे कुल्लू, बंजार, आनी क्षेत्र में पड़ी खुश्क ठंड पर भी अंकुश लग गया है।

 

यह मार्ग आनी विधानसभा क्षेत्र को जिला मुख्यालय कुल्लू से जोड़ता है जो बर्फ गिरने से यातायात के लिए बंद है, जिस कारण आनी व निरमंड के लोगों को करसोग, मंडी, शिमला होकर जाना पड़ रहा है। खनाग पंचायत के उपप्रधान बुद्धि सिंह ठाकुर ने कहा कि यह नेशनल हाई-वे बरसात और सर्दियों में बर्फबारी होने के कारण यातायात के लिए बंद रहता है। जलोड़ी पास की समस्या 50 साल पुरानी है।

 

बरसात में कोटनाला व मशनूनाला महीनों तक भारी भू-स्खलन से यातायात के लिए बंद रहते हैं। हमारा विभाग से आग्रह है कि इस मार्ग को देखते हुए इससे बहाल करने के लिए मशीन जलोड़ी जोत या खनाग में रखनी चाहिए। उधर एनएच 305 के एसडीओ सुनील गुप्ता का कहना है कि बर्फबारी के कारण मार्ग बंद हो गया है जैसे ही मौसम साफ होता है तो मार्ग को बहाल करने का कार्य आरंभ किया जाएगा।

ताजा बर्फबारी से लाहुल व मनाली के पहाड़ खिल उठे हैं जबकि वादियां निखर उठी है। हालांकि पर्यटन नगरी को बर्फ ले फाहों का इंतजार है लेकिन साथ लगते सभी पर्यटन स्थल बर्फ की परत से निखर उठे हैं। कुल्‍लू जिले की सोलांग वैली में बर्फ शुरू हो गई है, वहीं रोहतांग दर्रे में अब तक दो फुट से अधिक बर्फबारी हो चुकी है। बारालाचा दर्रे में भारी बर्फबारी होने से मनाली लेह मार्ग सर्दियों के लिए बन्द हो गया है।

 

रोहतांग दर्रे में बर्फबारी होने से दर्रा वाहनों के लिए शुक्रवार से बन्द कर दिया गया है। मनाली को ओर कोठी तक ही वाहन जा रहे है जबकि लाहुल की समस्त घाटी सहित मनाली केलांग मार्ग पर वाहनों के पहिये जाम हो गए हैं। लाहुल घाटी में फंसे वाहन चालकों की नजरें बीआरओ पर टिक गई हैं। जिला मुख्यालय केलांग में भी अब तक सवा फुट बर्फबारी हो चुकी है। लाहुल घाटी में बस सेवा कल से बन्द चल रही है।

 

रोहतांग दर्रे में अब तक 2 फुट, राहनीनाला में डेढ़ मढी में सवा फुट ब्यासनाला, चुंबक मोड़, राहलाफाल, फातरु ओर गुलाबा में एक फुट से अधिक हिमपात हुआ है। कोठी ओर सोलंग में भी 3 इंच बर्फबारी हुई है।मनाली घाटी में कल से बारिश का क्रम जारी है। पहाड़ों में बर्फबारी व घाटी में बारिश होने से ठिठुरन भरी ठंड हो गई है। लाहुल के कोकसर में डेढ़ फुट से अधिक हिमपात हुआ है।

सिसु, गोंदला, दालग, मुलिंग, तांदी और गोशाल सहित जिला मुख्यालय केलांग में भी 1 फुट हिमपात हुआ है। लाहुल के दारचा, जिस्पा, नेनगार, गवाड़ी, चौखंग में भी डेढ़ से पोन 2 फुट हिमपात हो चुका है। लाहुल की पटन, चंद्रा, गाहर ओर तोत वैली में भी भारी बर्फबारी है। मनाली की ओर आने वाले सेंकडों वाहन लाहुल घाटी में फंस गए है। रोहतांग में बर्फबारी होती देख मनाली प्रशासन ने दर्रा सैलानियो के लिए कल से बंद कर दिया है।

सुरक्षा की दृष्टि से सैलनियों के वाहनों को आज कोठी तक ही जाने दिया जा रहा है। एचआरटीसी के आरएम मंगल चन्द मनेपा ने बताया कि बर्फबारी होने के कारण समस्त लाहुल घाटी में बस सेवा बन्द कर दी गई है। उन्होंने बताया कि कुल्लू से लाहुल आने वाली बसे भी मनाली से बापस कुल्लू लौट रही हैं। मनाली एसडीएम रमन घरसँगी ने बताया कि रोहतांग दर्रे में दो फुट से अधिज हिमपात हो चुका है।

 

बर्फबारी को देखते हुए रोहतांग मार्ग सभी वाहनों के लिए बन्द कर दिया है। सैलानियों को आज कोठी पर्यटन स्थल तक और सोलंगनाला तक भेजा जा रहा है। लाहुल घाटी सहित रोहतांग में भारी हिमपात हुआ है। मौसम खुलने के बाद हालात का जायजा लिया जाएगा। परिस्तिथियों को देखने के बाद रोहतांग बहाली को लेकर निर्णय लिया जाएगा,, कर्नल एके अवस्थी, कमांडर बीआरओ