udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news भारत को तीन गुना कीमत पर गैस बेचना चाहता है ईरान

भारत को तीन गुना कीमत पर गैस बेचना चाहता है ईरान

Spread the love

नई दिल्ली । कुछ समय पहले तक भारत और ईरान के रिश्तों में गर्माहट बढ़ रही थी और इसके लिए तेल व गैस क्षेत्र में बढ़ रहे सहयोग को अहम माना जा रहा था। लेकिन अब हालात बदले नजर आ रहे हैं। तेल व गैस क्षेत्र में दोनों देशों के मतभेद बढ़ते जा रहे हैं।

 

भारत के लिए कच्चे तेल की कीमत बढ़ाने के बाद ईरान ने भविष्य में भारत को बेचे जाने वाली गैस की कीमत में भी तीन गुना वृद्धि का प्रस्ताव किया है। यह गैस भारतीय सरकारी कंपनी ओएनजीसी के ईरान के फरजाना बी गैस ब्लॉक से निकाली जानी है।

 

 

दस वर्ष पहले ईरान इस ब्लॉक से निकालने जाने वाली गैस को भारत के हाथों 2.3 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू (ब्रिटिश थर्मल यूनिट – गैस मापने का मापक) की दर से बेचने को तैयार था लेकिन अब वह इसे सात डॉलर प्रति एमएमबीटीयू से भी ज्यादा करना चाहता है।

 

ईरान की तरफ से प्रस्ताव आया है कि भारत जिस फॉमरूले के तहत कतर से गैस खरीदता है उसी के तहत उससे भी गैस खरीदे। भारत और कतर के बीच लंबी अवधि का गैस खरीदने का करार है। पहले भारत कतर से 12-13 डॉलर प्रति एमएमबीटीयू की दर से गैस खरीदता था लेकिन वर्ष 2015 में नया करार किया गया है जिससे गैस की कीमत अभी तकरीबन सात डॉलर प्रति एमएमबीटीयू होती है।

 

भारतीय अधिकारियों का कहना है कि ईरान का नये प्रस्ताव को कारोबारी हितों को देखते हुए स्वीकार नहीं किया जा सकता। इसके पीछे वजह यह है कि कतर के गैस फील्ड में भारतीय कंपनियों का कोई निवेश नहीं है। कतर सरकार अपने गैस फील्डों से भारत को गैस दे रही है। जबकि फरजाना बी गैस ब्लॉक को ओएनजीसी विदेश लिमिटेड की अगुवाई में सरकारी तेल कंपनियों के कंसोर्टियम ने हासिल किया है।

 

साथ ही ये कंपनियां वहां अरबों डॉलर का निवेश कर रही हैं। हाल ही में इन कंपनियों ने वहां 5.5 अरब डॉलर के नए निवेश का प्रस्ताव ईरान को भेजा है। भारत की तरफ से लगातार दबाव बनाने के बावजूद ईरान ने इसे अभी तक स्वीकार नहीं किया है। उल्टा गैस ब्लॉक में छिड़ी जंग की आग कच्चे तेल खरीद से जुड़े समझौते तक पहुंच गई है।

 

पिछले महीने भारत की तरफ से जब यह धमकी दी गई कि वह ईरान से कम तेल खरीदेगा तो ईरान ने उल्टा भारत को तेल खरीद में दिए जाने वाले डिस्काउंट को हटा दिया।