भारतीय मूल का किशोर बना यूके का सबसे युवा करोड़पति

Spread the love

लंदन । भारतीय मूल का एक युवा स्कूल के लंच ब्रेक के दौरान अपनी ऑनलाइन एस्टेट एजेंसी के जरिए प्रॉपर्टीज बेचकर अब यूनाइडेट किंगडम के सबसे युवा करोड़पतियों में से एक बन गया है।

 

डेली मिरर के मुताबिक जब स्कूल के प्लेग्राउंड में दूसरे लडक़े खेल रहे होते थे, इस वक्त 19 साल का अक्षय रूपरेलिया चुपचाप अपने फोन पर डील्स को लेकर मोलभाव में लगा रहता था।

 

अक्षय ने एक कॉल सेंटर सर्विस भी हायर की थी ताकि जब वह क्लास में हो तब क्लाइंट्स को उनके सवालों के जवाब मिल सकें और स्कूल से छूटने के बाद उन्हें कॉल कर सकें।

 

कुछ महीनों के अंदर, निवेशकों ने अक्षय की कंपनी 222.स्रशशह्म्ह्यह्लद्गश्चह्य.ष्श.ह्वद्म के शेयर भी खरीदने शुरू कर दिए। एक साल से कुछ ज्यादा समय में उनकी कंपनी की कीमत 12 लाख पाउंड तक पहुंच गई और इस युवा ने तकरीबन 10 करोड़ पाउंड के घर बेच डाले।

 

इस युवा ने बताया कि अब वह पुराने एस्टेट एजेंट्स को इस बिजनस से बाहर करने के लक्ष्य को पूरा करने की कोशिश में है क्योंकि ये एजेंट एक घर को बिकवाने के लिए भी हजारों पाउंड कमिशन लेते हैं लेकिन अक्षय यह काम सिर्फ 99 पाउंड में कर देते हैं।

 

अक्षय का आइडिया इतना सफल हो चुका है कि अब उनकी कंपनी यूके की 18वीं सबसे बड़ी एस्टेट एजेंसी बन गई है। हैरानी की बात यह है कि उन्होंने महज 16 महीने पहले ही अपनी वेबसाइट शुरू की थी।

 

अक्षय ने इस कंपनी की शुरुआत करने के लिए अपने रिश्तेदारों से 7 हजार पाउंड उधार लिए थे। उनकी कंपनी में 12 लोग हैं और अब वह ये संख्या दोगुनी करने को तैयार हैं क्योंकि निवेशकों ने उनके शेयर्स खरीदने के लिए पहले ही उन्हें 5 लाख पाउंड्स दे दिए हैं।