udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news भीषण सडक़ हादसे में 6 लोगों की मौत

भीषण सडक़ हादसे में 6 लोगों की मौत

Spread the love

सोनीपत । पिछले महीने की 28 मई को शुरू हुए ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे (केजीपी) केजीपी पर सडक़ हादसे थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। गुरुवार को हुए एक और भीषण सडक़ हादसे में छह लोगों की मौत हो गई, जबकि कुछ लोग गंभीर रूप से घायल हो गई। घायलों को नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इससे पहले 5 जून (मंगलवार) को सडक़ हादसे में 7 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई थी।

ताजा हादसा गुरुवार को सोनीपत के पास मनौली में हुआ। जानकारी के मुताबिक, मनौली के पास टोल से आगे चार पहिया (टाटा-एस) को तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दी। इस भीषण हादसे में चार पहिया सवार उत्तर प्रदेश के गांव मलिकपुर निवासी नजीम, सैजाद व लोनी के अशोक विहार निवासी शहजाद की मौत हो गई। वहीं, अशोक विहार निवासी मोमिन व खिडक़ी निवासी नदीम व एक अन्य घायल हो गए।

उन्हें राहगीरों ने शहादरा दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां इलाज के दौरान नजीम, सैजाद व शहजाद ने भी दम तोड़ दिया। मामले की सूचना के बाद कुंडली थाना पुलिस ने दिल्ली में शवों का पोस्टमार्टम कराया। बताया जा रहा है सभी चार पहिया सवार लोग गाड़ी में गद्दे भरकर लोनी (यूपी) से रोहतक के सांपला जाने के लिए निकले थे। रास्ते में सडक़ हादसे का शिकार हो गए।

इससे पहले हरियाणा पलवल में ईस्टर्न पेरीफेरल (केजीपी) एक्सप्रेस-वे पर मंगलवार सुबह हुए भीषण सडक़ हादसे में सात लोगों की मौत हो गई, जबकि छह घायल हो गए। हादसा 5 जून की सुबह करीब चार बजे चांदहट थाना क्षेत्र के गांव जल्हाका-कटेसरा के बीच हुआ था, जहां एक कैंटर ने पिकअप को टक्कर मार दी थी।

दुर्घटना में मरने वालों में देवी सिंह (55 वर्ष), ओमवती (38), जतिन (16), विजयपाल (40), सीमा (15), दूसरा विजयपाल (35), अनन्या (4) के शवों को दो एंबुलेंसों में रखवा कर जिला नागरिक अस्पताल में भिजवा दिया। घटना में रीना, संगीता, सूरज, शालू, सचिन व राखी घायल हो गए।

पिछले 48 घंटे के दौरान इस एक्सप्रेस-वे पर 13 लोगों की जान जा चुकी है। जान गंवाने वाले सभी उत्तर प्रदेश के ही रहने वाले थे। बता दें कि पिछले महीने की 27 मई को पीएम मोदी ने कुंडली-गाजियाबाद-पलवल (केजीपी) का उद्घाटन किया था, लेकिन अभी काफी निर्माण कार्य बचा हुआ है। सबसे अधिक परेशानी कुंडली के पास हो रही है। यहां अभी तक केजीपी और जीटी रोड को जोडऩे वाला सिग्नल फ्री चौराहा नहीं बन पाया है।

रफ्तार के साथ सुधार की भी जरूरत
ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे दिल्ली के नजदीक हरियाणा के कुंडली (एनएच-1) को पलवल (एनएच-2) से जोड़ता है। इसके पूरी तरह चालू हो जाने पर कोलकाता से इलाहाबाद, कानपुर, और आगरा होते हुए सोनीपत, पानीपत, करनाल, जालंधर और जम्मू जाने अथवा वहां से आने के इच्छुक वाहनों को दिल्ली में प्रवेश करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

इससे उन्हें ईधन के अलावा पौने तीन घंटे समय की बचत होगी तथा उनका 4 घंटे का सफर मात्र सवा घंटे में पूरा होगा। अलबत्ता यह अवश्य है कि इस एक्सप्रेस वे पर चलने वालों को सामान्य हाइवे से कुछ अधिक किंतु तय की गई दूरी के हिसाब से टोल देना होगा।