udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news भूकंप से डोली धरती, फैली दहशत, लोग घरों से बाहर भागे !

भूकंप से डोली धरती, फैली दहशत, लोग घरों से बाहर भागे !

Spread the love

शिमला। भूकंप से डोली धरती, फैली दहशत, लोग घरों से बाहर भागे ! भूगर्भ की घटती घटनाओं में आज फिर से लोगों में दहशत का माहोल दिखा। देश में कई स्थानों पर भूकंप के झटके महसूस किए गये। हिमाचल प्रदेश में शनिवार को भूंकप आने की वजह से लोगों में दहशत फैल गई।

 

हलांकि अभी तक किसी प्रकार के जान-माल के नुकसान होने की कोई सूचना नहीं है। रिक्टर पैमाने पर भूंकप की तीव्रता 3.0 जीरो मापी गई है। बताया जा रहा है कि शनिवार को अचानक भूकंप के हल्के झटके महसूस हुए तो लोग बाहर की ओर दौड़ पड़े।

 

खासकर चंबा, हमीरपुर, कांगड़ा में भूंकप महसूस किया गया। अभी तक किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है। इससे पहले 10 मई को भी शिमला, चंबा, ऊना, कुल्लू, मंडी, हमीरपुर सहित अन्य जिलों में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।

 

भूकंप से ऐसे बचें
अगर आप गाड़ी या कोई भी वाहन चला रहे हों तो उसे फौरन रोक लें। वाहन चला रहे हैं तो बिल्डिंग, होर्डिंग्स, खंभों, फ्लाईओवर, पुल से दूर सड़क के किनारे गाड़ी रोक लें। भूकंप के दौरान आपको लिफ्ट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। बाहर जाने के लिए लिफ्ट की बजाय सीढ़ियों का इस्तेमाल करें।कहीं फंस गए हों तो दौड़ें नहीं।

 

इससे भूकंप का ज्यादा असर होगा। टेबल, बेड, डेस्क जैसे मजबूत फर्नीचर के नीचे छिप जाएं। किसी मजबूत दीवार, खंभे से सटकर सिर, हाथ आदि को किसी मजबूत चीज से ढंककर बैठ जाएं। भूकंप आने पर तुरंत सुरक्षित और खुले मैदान में जाएं। बड़ी इमारतों, पेड़ों, बिजली के खंभों से दूर रहें।

 

5.1 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस

जापान के नागानो में शनिवार को रिक्टर पैमाने पर 5.1 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए. हालांकि, भूकंप से किसी तरह के जान एवं माल की हानि की खबर नहीं है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने जापान मौसम विज्ञान एजेंसी के हवाले से बताया कि भूकंप के झटके सुबह 10.29 बजे 10 किलोमीटर की गहराई में दर्ज किए गए.

 

भूकंप के बाद सुनामी को लेकर किसी तरह का खतरा नहीं है. गौरतलब है कि पिछले महीने की 9 तारीख को भी पश्चिमी जापान में रिक्टर पैमाने पर 6.1 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. जिसमें चार लोगों की मौत हो गई थी. जापान मौसम विज्ञान एजेंसी (जेएमए) के मुताबिक, भूकंप का झटका रात 1.32 बजे महसूस किया गया था.

 

भूकंप का केंद्र 35.2 डिग्री उत्तरी अक्षांश और 132.6 डिग्री पूर्वी देशांतर में दर्ज किया गया. भूकंप के बाद शहर के कई हिस्सों में बिजली आपूर्ति ठप हो गई थी और पानी आपूर्ति भी बाधित रही.