udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news बॉर्डर पर युद्ध जैसे हालात,  12 लोगों की मौत,54 घायल,70 हजार ने छोड़ा घर !

बॉर्डर पर युद्ध जैसे हालात,  12 लोगों की मौत,54 घायल,70 हजार ने छोड़ा घर !

Spread the love

श्रीनगर। बॉर्डर पर युद्ध जैसे हालात,  12 लोगों की मौत,54 घायल,70 हजार ने छोड़ा घर ! जम्मू-कश्मीर में अंतराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान की लगातार हो रही भारी गोलाबारी में अब तक 12 लोगों की माैत हो गई।इसके साथ ही दर्जनों लोग घायल हो गए। इस अघोषित युद्ध के कारण घाटी से 70 हजार से अधिक लोगों ने अपना घर छोड़ दिया है।

 

आपको बता दें कि पाकिस्तान की ओर से हो रही लगातार गोलाबारी के भय से लोग सुरक्षित स्थानों की ओर पलायन कर रहे हैं। पंजाब के पठानकोट से सटे कठुआ से लेकर जम्मू जिले के अखनूर तक करीब दो सौ किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तीन दर्जन से अधिक भारतीय चौकियों आैर रिहायशी इलाकों पर भारी गोलाबारी जारी है।तीन सीमा प्रहरियों समेत कुल 11 लोग घायल हैं।

 

भारी गोलाबारी में सांबा जिले में दो, जम्मू जिले के आरएसपुरा में दो व कठुआ जिले के हीरानगर में एक व्यक्ति की मौत हो गई। सीमा पर 14 मई से पाकिस्तान की ओर से की जा रही तेज गोलाबारी में अब तक दो बीएसएफ जवानों समेत 12 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 54 लोग घायल हुए हैं। सांबा के बैन ग्लाड़ इलाके में सुबह पाकिस्तान की ओर से दागे गए गोलों में आठ वर्षीय बच्ची कृष्ण पुत्री विजय कुमार व 37 वर्षीय शामो देवी पत्नी गोरखा की मौत हो गई।

 

क्षेत्र में घायल हुए लोगों की पहचान पूजा देवी, चंपा देवी, शिवराज, परी व शिवम के रूप में हुई है। सांबा के रामगढ़ के बल्लड़ पोस्ट पर मोर्टार फटने से सीमा सुरक्षा बल के तीन जवान भी घायल हुए हैं। वहीं कठुआ जिले के हीरानगर के लोंडी गांव में गोलाबारी में पाकिस्तान की ओर से दागे गए 82 एमएम मोर्टार के गोलों की चपेट में आकर रामपाल शर्मा पुत्र तिल्लो राम शर्मा व तीन लोग घायल हो गए। घायलों में राम पाल की पत्नी सुदेश भी घायल हैं।

 

सुबह नाै बजे के करीब मोर्टार का गोला जम्मू जिले के आरएसपुरा के शामका गांव के एक घर पर गिरने से पज्जू पुत्र करम चंद की मौके पर ही मौत हो गई जबकि गंभीर हालत में मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती करवाए गए आरएसपुरा के पचास वर्षीय रधुवीर सिंह पुत्र धर्म सिंह की भी मौत हो गई।

वहीं जिले अरनिया में गोलाबारी में रवि कुमार पुत्र पूर्ण चंद घायल हो गया। जम्मू संभाग के विभिन्न हिस्सों में गंभीर रूप से घायल नौ लोगाें को जम्मू के मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती करवाया जा रहा है। पाकिस्तानी गोलाबारी से प्रभावित अरनिया के निवासियों ने सुहागपुर गांव में प्रदर्शन कर पाकिस्तान का झंडा जलाया।

 

सीमा पर लगातार हो रही गोलाबारी से भारी दहशत के माहौल के बीच लोगों का पलायन जारी है। जम्मू संभाग के कठुआ, सांबा, जम्मू जिलों में अब तक सवा लाख से अधिक लोग घरों से पलायन कर चुके हैं। गोलाबारी से दर्जनों माल मवेशी मारे गए हैं व सीमा सुरक्षा बल की मुंहतोड़ जबाबी कार्रवाई में सीमा पार भी भारी नुकसान हुआ है।

 


दक्षिण कश्मीर में श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित बीजबेहाड़ा में बुधवार काे आतंकियों के एक ग्रेनेड हमले में छह लोग जख्मी हो गए। घायलों में एक महिला भी शामिल है। फिलहाल, सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी करते हुए आतंकियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान छेड़ दिया है।यहां मिली जानकारी के अनुसार, आज दोपहर बारह बजे के करीब सुरक्षाबलों का एक वाहन (जिप्सी ) बीजबेहाड़ा के मुख्य बाजार से गुजर रही थी। बाजार में लोगों की भीड़ में छिपे आतंकियों ने जिप्सी को उसमें सवार जवानों संग उड़ाने के लिए ग्रेनेड से हमला किया।

 

ग्रेनेड अपना निशाना चूक गया और जिप्सी से दूर आम लोगों के बीच गिरते हुए एक जोरदार धमाके के साथ फट गया। धमाका होते ही वहां लोगों के राेने-चिल्लाने की आवाजों के साथ ही अफरा-तफरी फैल गई। इसका फायदा ले आतंकी भी वहां से भाग निकले और बाजार खाली हो गया। वहां सिर्फ सड़क पर जख्मी हालत में पड़े लोग ही नजर आए।

 

इस बीच, सुरक्षाबलों ने तुरंत पूरे इलाके की घेराबंदी करते हुए खून से लथपथ पड़े सभी लोगों को उठाया और उन्हें उपचार के लिए निकटवर्ती अस्पताल में दाखिल कराया। अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार, एक महिला समेत छह जख्मी लाए गए हैं। सभी के शरीर में ग्रेनेड से निकले छर्राें के घाव हैं।