udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news बुलेट ट्रेन के बाद अब चलेगी स्काई ट्रेन, ट्रायल सफल

बुलेट ट्रेन के बाद अब चलेगी स्काई ट्रेन, ट्रायल सफल

Spread the love

बीजिंग। चीन की सबसे नई तकनीक वाली और सबसे तेज ट्रेन परीक्षण किया गया। हवा में झूलती इस ट्रेन का नजारा शांनदोंग प्रांत के क़ङ्क्षगदाओ शहर के लोगों के लिए आम हो चुका है।

 

चाइनान्यूज डॉट कॉम ने यह रिपोर्ट दी है। इस मोनोरेल को चीन की सबसे तेज रेलवे लाइन माना जा रहा है। यह पहले ही रिकार्ड तोड़ चुकी है। हालांकि अभी यह परीक्षण के चरण में है। जिस ऊंचाई पर यह बनी है उसको देखते हुए इस पर चलने वाली ट्रेन को स्काईट्रेन नाम दिया गया है।

 

510 यात्री तीन से पांच डब्बों की ट्रेन में बैठ सकेंगे
100 मीटर ढलान पर चढ़ सकती: इंजीनियरों के अनुसार, यह सामान्य मेट्रो ट्रेनों से लगभग तीन गुना बेहतर प्रदर्शन कर सकती है। यह 1000 मीटर की दूरी पर 100 मीटर के चढ़ाई या ढलान पर चढ़-उतर सकती है। इसे हल्का बनाया गया है। साथ ही इसे कम लागत वाली यातायात प्रणाली के बतौर विकसित किया गया है।

 

70 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ेगी स्काई ट्रेन
जर्मनी में 1901 में शुरू हुई थी : चीन, जर्मनी और जापान के बाद दुनिया का तीसरा देश है जहां इस तरह की तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसकी रेलवे लाइन जमीन से पांच मीटर की ऊंचाई पर बनी है। जर्मनी के वुपर्टल शहर में बिजली से चलने वाली रेलवे प्रणाली 1901 में शुरू हुई थी, जो आज भी जारी है।