udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news छः हजार सात सौ की टिकट को साढ़े नौ हजार में बेची

छः हजार सात सौ की टिकट को साढ़े नौ हजार में बेची

Spread the love

हैदराबाद के तीर्थयात्रियों से ब्लैक टिकटिंग का मामला ,नोडल अधिकारी ने आरोपियों को किया पुलिस के हवाले

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ हेली सेवाओं को लेकर शुरू से ही कई विवाद जुड़े रहे हैं। चाहे वह विवाद टेंडर की शर्तों को लेकर हो या फिर यात्रियों की सुविधा व सुरक्षा का मामला रहा हो। जहां पहले ही कुछ चुनिंदा ऑपरेटरों को टेंडर देने को लेकर कई सवाल उठ चुके हैं, वहीं अब ताजा मामला ब्लैक टिकटिंग को लेकर सामने आया है, जो यूटीएयर फाटा स्थित हेलीपैड का है।

दरअसल, टूर एंड ट्रेवल्स के मालिक विजय सिंह राणा और उसके एजेंट प्रतापा वैंकटा सुब्रह्मण्यम वारा प्रसाद यादव ट्रेवल्स के एजेंट पीए राजू के साथ विशाखापट्टनम (हैदराबाद) से 33 तीर्थयात्रियों के समूह को केदारनाथ यात्रा पर लाये थे। दोनों आरोपियों ने 6700 की टिकट यात्रियों को 9 हजार 500 में बेच दी और यात्रियों से दो लाख तीस हजार के अलावा 80 हजार और मांगने लगे। दोनों आरोपी फाटा हेलिपैड के निकट आपस मे बात कर रहे थे।

 

इस दौरान नोडल अधिकारी हेली सेवा सुरेंद्र पंवार मौके पर पहंुचे और दोनों आरोपियों को पकड़ लिया और पुलिस के हवाले किया।। हेली सेवा नोडल अधिकारी सुरेंद्र पंवार ने बताया कि बाहरी राज्यों से ही दलाल यहां आ रहे हैं और यात्रियों से पहले ही सेटिंग कर रहे हैं। बताया कि दोनों आरोपी भी हैदराबाद के हैं, जो यात्रियों को हैदराबाद से यहां लेकर आये थे। हर हेलीपैड पर प्रशासन की पैनी नजर है और टिकट को लेकर यात्रियों से भी पूछताछ की जा रही है।

 

पुलिस अधीक्षक प्रह्लाद नारायण मीणा ने बताया कि नोडल अधिकारी सुरेन्द्र पंवार की शिकायत पर पुलिस उपाधीक्षक गुप्तकाशी अभय कुमार एवं फाटा इंचार्ज मौके पर पहुंचे और आरोपलियों को हिरासत में लिया। उन्होंने बताया कि मौके पर गिरफ्तार किये गये अभियुक्त प्रतापा वैंकटा सुब्रह्मण्यम वारा प्रसाद के कब्जे से तय दर से अधिक रूपये में हैली टिकट के नाम पर की गई धोखाधड़ी से पचास हजार रुपये बरामद किये गये।

 

घटना में संलिप्त अन्य अभियुक्त विजय सिंह राणा फरार चल रहा है। उसकी धर पकड़ के लिए प्रयास किये जा रहे हैं। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पूर्व में ही सभी अधीनस्थों को निर्देशित किया गया है कि किसी भी यात्री के साथ किसी भी प्रकार का दुर्व्यवहार एवं धोखाधड़ी व ठगी की घटना नहीं होनी चाहिए, यदि ऐसा होता है तो शीघ्र ही कार्रवाई अमल में लाई जायेगी। वहीं पुलिस की त्वरित कार्रवाई पर तीर्थयात्रियों सहित स्थानीय लोगों ने जमकर प्रशंसा की।