udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने को आधारभूत सुविधाएं मुहैया कराना हमारी प्राथमिकता होगी : आयुक्त

धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने को आधारभूत सुविधाएं मुहैया कराना हमारी प्राथमिकता होगी : आयुक्त

Spread the love
अल्मोड़ा। धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ-साथ वहॉ पर आधारभूत सुविधाओं को मुहैया कराना हमारी प्राथमिकता होगी यह बात आज अपने तीन दिवसीय भ्रमण के दौरान आयुक्त कुमाऊॅ मण्डल राजीव रौतेला ने आज प्रसिद्व चितई मन्दिर में पूजा अर्चना के बाद कही। उन्होंने कहा कि यहॉ पर लाखो की संख्या में श्रद्वालु आते है लेकिन अभी भी यहॉ पर पार्किंग, पेयजल की व्यवस्था सहित अनेक समस्यायें है जिनका हमें समाधान करना होगा।
आयुक्त ने मौके पर उपस्थित जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव को निर्देश दिये कि इस हेतु एक कार्य योजना तैयार कर ली जाय। जिलाधिकारी ने बताया कि पार्किंग हेतु केन्द्र सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है जिसकी शीघ्र स्वीकृति मिलने वाली है। आयुक्त कुमाऊॅ मण्डल ने कहा कि भ्रमण के दौरान रास्ते में अनेक जगहों पर सडक़ों के किनारे भारी मात्रा में मिटटी डाली गयी है जिससे कभी भी दुर्घटना की सम्भावना बनी रहती है।
इसके लिए उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये है कि बुलडोर या जे0सी0बी0 के माध्यम से उसे हटाने की व्यवस्था या उस मिटटी को सडक़ के किनारे फैलाने की व्यवस्था करें। उन्होंने पर्यटन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि चितई, जागेश्वर सहित अन्य धार्मिक पर्यटन स्थलों व अन्य पर्यटन स्थलों के बारे में एक ठोस कार्य योजना तैयार करें साथ ही चितई मन्दिर में क्या-क्या सुविधा और मुहैया हो सकती है इसके लिए उपजिलाधिकारी, तहसीलदार के साथ समन्वय स्थापित कर मन्दिर व्यवस्था के जुड़े लोगो के साथ विचार-विमर्श कर लें ताकि यहॉ पर और अधिक सुविधायें मुहैया हो सके।
आयुक्त कुमाऊ मण्डल ने कहा कि हमारे कुमाऊॅ मण्डल में पर्यटन सुविधाओं को और विकसित किया जा सकता है इसके लिए हमें एक ठोस कार्य योजना तैयार करनी होगी। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि जहॉ से जनपद अल्मोड़ा की सीमा प्रारम्भ होती है वहॉ पर पर्यटन विभाग चितई, जागेश्वर, कसारदेवी, गैराड़, कटारमल सहित अन्य मन्दिरों से सम्बन्धित होर्डिग्स लगाकर उनके बारे में संक्षिप्त जानकारी भी उसमें प्रदर्शित करें ताकि बाहर से आने वाले लोग उसके बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें। इसके अलावा उन्होंने कहा कि मन्दिर में लगी घन्टियॉ एक व्यवस्थित ढग़ से लग सकें इसकी भी व्यवस्था मन्दिर व्यवस्था से जुड़े लोगो के साथ मिलकर करनी होगी।
आयुक्त कुमाऊ मण्डल ने इस अवसर पर बन्दरों द्वारा पहुॅचाये जा रहे नुकसान पर भी चिन्ता व्यक्त की और कहा कि मै स्वयं जनपद मथुरा के प्रशासन से सम्पर्क कर वहॉ से बन्दर पकडऩे वाली टीम को बुलाने की कोशिश करूगा ताकि उनके द्वारा जो नुकसान पहुॅचाया जा रहा है उसमें कमी आ सके। इस सम्बन्ध में मेरी वन विभाग के उच्चाधिकारियों से भी निरन्तर वार्ता चल रही है। उन्होंने पर्यटन विभाग को यह भी निर्देश दिये सडक़ों के किनारे स्थान-स्थान पर विभिन्न पर्यटन स्थलों मन्दिरों सहित अन्य ऐतिहासिक जानकारी के बोर्ड अनिवार्य रूप से लगाये जाय।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने अनेक महत्वपूर्ण जानकारियॉ मन्दिर से जुड़ी दी और वहॉ पर सरस मार्केट में स्वयंसेवी संस्थाओं से जुड़े व्यवसाय को विकसित करने की बात कही। इसके अलावा उन्होंने कहा कि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन विभाग द्वारा ब्रोसर तैयार करने सहित कापी टेबुल बुक का भी प्रकाशन किया जा रहा है जिससे बाहर से आने वाले पर्यटकों को और अधिक जानकारी मिल सके।
इसके बाद आयुक्त कुमाऊ मण्डल प्रसिद्व जागेश्वर मन्दिर में गये जहॉ पर उन्होंने पूजा अर्चना की वहॉ पर उन्होंने मन्दिर कमेटी के लोगो से मन्दिर की व्यवस्थाओं आदि के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि जागेश्वर मन्दिर में और अधिक सुविधायें मुहैया हो सके इसके लिए हमें प्रयास करने होंगे।
आयुक्त के भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव, उपजिलाधिकारी विवेक राय, उपजिलाधिकारी भनोली अवधेश कुमार सिंह, तहसीलदार खुश्बू आर्या, पर्यटन विकास अधिकारी राहुल चैबे सहित उनके परिवारजन उपस्थित थे।