udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news दून डीसीबी के पास हैं 9.33 करोड़ के 500-1000 रुपये मूल्य वाले पुराने नोट

दून डीसीबी के पास हैं 9.33 करोड़ के 500-1000 रुपये मूल्य वाले पुराने नोट

Spread the love

देहरादून । केंद्र द्वारा 500 रुपये के पुराने नोट जमा करने के लिए सहकारी बैंकों को दी गई छूट केवल जिला सहकारी बैंक देहरादून शाखा के काम आएगी। राज्य की सिर्फ दून शाखा के पास ही अब तक 9.33 करोड़ के 500-1000 रुपये मूल्य वाले पुराने नोट जमा हैं। बैंक इन्हीं तय समयावधि में रिजर्व बैंक में जमा नहीं कर सका था।

 

आठ नवंबर 2016 की रात 500 व 1000 रुपये मूल्य वाले नोट बंद करने का पीएम नरेंद्र मोदी ने एलान किया था। इस फैसले के बाद से ही अचानक बैंकों में रकम जमा कराने को कतारें लगने लगी थी। 13 नवंबर तक सभी सहकारी बैंक भी अपने यहां रकम जमा कराते रहे, लेकिन इसी दिन सहकारी बैंकों के लिए आदेश जारी हो गया कि अब वह खाताधारकों या अन्य से पुराने नोट जमा नहीं करा सकेंगे। इसके बाद से खुद सहकारी बैंक ही मुसीबत में आ गए।

 

आनन-फानन में सहकारी बैंकों ने अपने यहां आई रकम राष्ट्रीयकृत बैंकों में जमा करानी शुरू करा दी। इसके बावजूद उत्तराखंड के अलावा महाराष्ट्र व राजस्थान सहित तमाम अन्य राज्यों के सहकारी बैंक रकम जमा नहीं करा सके। इसके लिए राज्यों की ओर से केंद्र से गुजारिश की जाती रही।

 

इस पर हाल में आदेश जारी हुआ कि सहकारी बैंक अपने यहां जमा रकम 16 जुलाई तक रिजर्व बैंक में जमा कर सकेंगे। दून को छोडक़र उत्तराखंड के सभी सहकारी बैंक पूर्व में ही रकम जमा करा चुके थे। अब दून शाखा अब 9.33 करोड़ रुपये खपाने हैं।

 

राज्य सहकारी बैंक के एमडी दीपक कुमार का कहना है कि सभी सहकारी बैंक शाखाओं ने के बाद ही अपने यहां जमा रकम बैंकों में डिपॉजिट करा दी थी। देहरादून डीसीबी 9.33 करोड़ के नोट जमा नहीं कर सकी थी। 16 जुलाई तक छूट अवधि है तब तक यह रकम रिजर्व बैंक में जमा करा दी जाएगी।’