udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news दुःखदः दम तोड़ रही हैं फसलें, किसान निराश !

दुःखदः दम तोड़ रही हैं फसलें, किसान निराश !

Spread the love

विकासनगर । जौनसार बावर में कई साल से टूटी-फूटी सिंचाई नहरों की मरम्मत न होने से फसलें दम तोड़ रही हैं। कृषि भूमि को बंजर होते देख किसान परेशान हैं, लेकिन सिंचाई विभाग सुध लेने को तैयार नहीं।

लिहाजा, स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को ज्ञापन भेजकर नहरों की मरम्मत की गुहार लगाई है। उन्होंने बताया कि जौनसार के त्यूणी, चकराता और कालसी में 60 से अधिक छोटी-बड़ी सिंचाई नहरें हैं। मगर, देखरेख न होने से अधिकांश नहरें क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं। यही नहीं, इनका पानी खेतों तक पहुंचने की बजाय सडक़ों में बह रहा है।

इससे किसानों की खेती-बाड़ी चौपट हो रही है। उन्होंने बताया कि अधिकांश लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती है। लेकिन, खेतों तक पानी न पहुंचने से उनके सामने खेती-बाड़ी का संकट खड़ा हो गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि सिंचाई विभाग से कई बार शिकायत के बावजूद सिर्फ आश्वासन ही मिल सका है। लिहाजा, उन्होंने मुख्यमंत्री से इस मामले में जल्द कार्रवाई की मांग उठाई है।

पत्र भेजने वालों में प्रधान सुमित्रा रावत, भगत राम, मालो देवी, बबीता, सरोज चौहान, टीको देवी, मदन सिंह, मातबर रावत, शूरवीर तोमर, भागी राम चौहान, गंदेल सिंह शामिल रहे।

ये नहरें हैं क्षतिग्रस्त: चांदनी खड्ड की बिऊलोग नहर, चांदनी नहर, दारमीगाड़ खड्ड की शठगधार नहर, नईगूल, मैंद्रथ नहर, चातरीगाड़ खड्ड की अनसार नहर, चातरी नहर, दारागाड़ खड्ड की नीवा नहर, बडूल नहर, अलसी नहर, सनसूल नहर, घेसूर नहर, कैराड़ टिपरी नहर, नायली नहर, बैनाड खड्ड की डिमीच शाडना नहर, खरोड़ा नहर, छतरी नहर, रोहटा अपर, लोवर नहर, सैंज खड्ड नहरचकराता तहसील: चाईला नहर, बिनसौंण, डूगियारा खड्ड की शावरा, डूगियारा, बिजनू, बरौथा, सैरा, लाखामंडल, गोठाढक़ालसी तहसील : अमलावा खड्ड से लोरली, कोथी, डकयारना, साहिया, हईया, पुरानी कालसी, हरिपुर, बामनवाला नहर