udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news दुर्घटनाओं के कारण को जानकर विभागों की जिम्मेदारी तय करने के निर्देश

दुर्घटनाओं के कारण को जानकर विभागों की जिम्मेदारी तय करने के निर्देश

Spread the love

रूद्रप्रयाग :  जनपद की सड़क सुरक्षा को लेकर जिला कार्यालय सभागर में जिलाधिकारी  मंगेश घिल्डियाल की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। इस अवसर पर डीएम ने जनपद में प्रति माह होने वाली दुर्घटना का गहन अध्ययन कर  विस्तृत जाँच रिपोर्ट देने के निर्देश जनपद स्तरीय सडक सुरक्षा समिति को दिए।

कहा कि जांच में समिति के सक्षम अधिकारी द्वारा ही निरीक्षण किया जाए। समस्त निर्माणदायी संस्थाओं को जनपद में भूस्खलन वाले क्षेत्रों का प्राक्कलन तैयार करने, दुर्घटना के कारणों की पर्याप्त जानकारी न होने पर एसडीएम व सीओ को दुर्घटना में घायल व जीवित व्यक्ति से मिलने, तहसीलवार सडक सुरक्षा की बैठक एसडीएम की अध्यक्षता में कराने, एआरटीओ व जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी को चरणबद्व तरीके से टैक्सी यूनियन की बैठक कर वाहन चालको को सडक सुरक्षा व प्राथमिक उपचार की जानकारी देने, एन एच के अधिशासी अभियंता को लाटा बाबा के समीप खराब हो रखी लाइट को बदलने के निर्देश दिए।

बैठक में जिलाधिकारी ने सडक सुरक्षा समिति को दुर्घटनाओं के कारण को जानकर विभागों की जिम्मेदारी तय करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर एआरटीओ मोहित कोठारी ने बताया कि इस माह अब तक 148 वाहनों के चालान व 11 गाडी सीज कर दी गई है। इसके साथ ही परिवहन, राजस्व एवं पुलिस विभाग द्वारा नियमित दूरस्थ क्षेत्रों में जाकर वाहन चैकिंग की जा रही है

दुपहिया सवारियों को डबल हैल्मेट पहनने के लिए सेंसटाइज करने के लिए रिमोट क्षेत्रों में जाकर सुरक्षा की जानकारी दी जा रही है। जनपद में आरटीए से रोड पास कराने के संबंध में एआरटीओ ने अवगत कराया कि विभाग द्वारा मोटरमार्ग पर सर्वे का कार्य गतिमान है व जिन मार्गाे में रोड पास कराने में जो कमिंया पायी गई थी, उनकी जानकारी संबंधित विभागों को भेजी जा रही है। विभागों द्वारा कमियों को दूर करने के पश्चात संबंधित विभाग के साथ मिलकर पुनः सर्वे कर आरटीए को रिपोर्ट भेज दी जाएगी।

इस अवसर पर एसडीएम सदर देवानंद, सीएमओ डाॅ एस के झा, अधिशासी अभियन्ता एन एच जे के त्रिपाठी, लोनिवि इन्द्रजीत बोस, ऊखीमठ मनोज दास, पीएमजीएसवाई आर सी उनियाल, सीओ श्रीधर बडोला, डीडीएमओ हरीश चन्द्र सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।