udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news दुर्लभ प्राणियों के घर में 12 साल में पहली बार हुआ शिशु का जन्म !

दुर्लभ प्राणियों के घर में 12 साल में पहली बार हुआ शिशु का जन्म !

Spread the love

ब्राजील। ब्राजील के छोटे से द्वीप फर्नांडो डि नोरोना पर 12 साल में पहली बार किसी शिशु का जन्म हुआ है। हालांकि 3000 लोगों की आबादी वाले इस द्वीप पर किसी शिशु के जन्म पर पाबंदी थी क्योंकि यहां एक भी प्रसव केंद्र नहीं है।

साथ ही दुर्लभ प्राणियों का घर होने के चलते परिस्थितिकी तंत्र को नुकसान पहुंचने से रोकने के लिए भी यहां जनसंख्या नियंत्रण को लेकर भी कड़े कानून हैं। इस द्वीप पर कोई महिला मां बनना चाहती हैं, तो उसे द्वीप छोडक़र करीब 370 किलोमीटर दूर जमीन पर बसे शहर जाना पड़ता है।

इस नियम को तोडऩे वाली 22 वर्षीय महिला का दावा है कि उसे गर्भवती होने की जानकारी नहीं थी। शनिवार को घर के शौचालय में जब बच्ची का जन्म हुआ, तो वह सन्न रह गई। हालांकि यह महिला पहले भी मां बन चुकी हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें अपने घर से दूर जाना पड़ा था।

बच्ची के जन्म के बाद उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया और प्रशासन ने भी बच्ची के जन्म की पुष्टि कर दी। एक दशक से भी ज्यादा समय द्वीप पर जन्मे बच्चे को लेकर स्थानीय लोगों में भी खुशी है। वे अब परिवार के लिए मदद जुटाने में लगे हुए हैं। बहुत से लोग बच्ची के लिए कपड़े उपहारस्वरूप दे रहे हैं।

दुर्लभ प्राणियों का घर फर्नांडो डि नोरोना :
ब्राजील का फर्नांडो डि नोरोना कई दुर्लभ प्राणियों का घर है। देश का बेहद लोकप्रिय राष्ट्रीय समुद्री उद्यान यहीं पर स्थित है। यहां डॉलफिन, हॉक्सबिल कछुओं और व्हेल के अलावा दुर्लभ पक्षियों को देखा जा सकता है।

यूनेस्को ने भी वल्र्ड हैरिटेज साइट का दर्जा दिया है। यह द्वीप पर्यटकों में भी काफी ज्यादा लोकप्रिय है। इसी वजह से ब्राजील के कई प्रमुख शहरों से ज्यादा यहां ठहरना ज्यादा महंगा है। इस द्वीप पर पर्यटकों की संख्या को भी सीमित रखने के लिए नियम बनाया गया है।