udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news गैरसैंण को स्थायी राजधानी बनाने का संकल्प यूकेडी ही पूरा कर सकतीः दिवाकर भट्ट

गैरसैंण को स्थायी राजधानी बनाने का संकल्प यूकेडी ही पूरा कर सकतीः दिवाकर भट्ट

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

देहरादून। पूर्व कैबिनेट मंत्री व उत्तराखंड क्रांति दल के केन्द्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने कहा है कि प्रदेश की स्थाई राजधानी गैरसैंण का संकल्प यूकेडी ही पूरा कर सकता है। भाजपा एवं कांग्रेस की सरकारें इस पर लगातार जनता को गुमराह कर रही हैं जिसे अब सहन नहीं किया जायेगा।

यहां कचहरी रोड स्थित दल के केन्द्रीय कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि प्रदेश की स्थायी राजधानी गैरसैंण का लेकर भाजपा लगातार जनता को भ्रमित कर रही है और गैरसैंण में बजट सत्र जो 14 मार्च से शुरू करने जा रही है और राज्यपाल का अभिभाषण दून विधानसभा में होगा और इससे स्पष्ट है कि भाजपा की प्रदेश सरकार गैरसैंण को स्थाई राजधानी बनाने की कोई मंशा नहीं दिखाई दे रही है।

उनका कहना है कि भाजपा संगठन एवं सरकार अनर्गल बयानबाजी करके जनता के साथ छलावा कर रही है। उनका कहना है कि अब इस राज्य को बचाने के लिए आंदोलनकारी शक्तियों को एक मंच पर आना होगा। इसके लिए कार्ययोजना तैयार की जायेगी।

 

रोजगार के मामले में सरकार के पास कोई योजना नहीं है और अस्थाई तौर से उपनल एवं अन्य एजेंसियों में कार्यरत कर्मचारियों को नियमित नहीं किया जा रहा है और एक तरफ देश के प्रधानमंत्री युवा भारत की बात करते है और दूसरी ओर युवाओं को रोजगार मुहैया नहीं कराया जा रहा है।

 

उनका कहना है कि जीरो टॉलरेंस की बात करने वाली सरकार का दम तो यही दिखता है कि एक वर्ष पूरा न होने पर मुख्यमंत्री के यहां चाय पानी का खर्चा 68 लाख हो चुका है जो जनता की गाढी कमाई है। इससे स्पष्ट होता है कि वर्तमान सरकार भी पूर्ववर्ती सरकार की तरह भ्रष्टाचार की तरफ कदमताल कर रही है। लोकायुक्त के मामले पर भाजपा सरकार की चुप्पी साफ दिखाई दे रही है कि भ्रष्टाचार के प्रति वह कितने सजग है।

 

उनका कहना है कि आगामी नगर निकाय चुनावों को दल दमदार तरीके से लडेगा और दल के भावी कार्यक्रम कस्बों, ब्लाकों व गांव गांव तक ले जायेंगें जिसमें राज्य के साथ छलावा करने वाली सरकार की पोल नजता के बीच में रखेगा। तीन हजार स्कूलों को बंद किया जा रहा है और यह सरकार की लापरवाही का एक जीता जागता उदाहरण है और इसके लिए जनांदोलन किया जायेगा।

 

पत्रकार वार्ता में दल के संरक्षक बीडी रतूडी, जय प्रकाश उपाध्याय, ओमी उनियाल, सुनील ध्यानी, संजय क्षेत्री, पंकज व्यास, लताफत हुसैन सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद थे।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •