udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news गैरसैंण विस सत्र की तैयारियों को लेकर स्पीकर ने ली अधिकारियों की बैठक

गैरसैंण विस सत्र की तैयारियों को लेकर स्पीकर ने ली अधिकारियों की बैठक

Spread the love

देहरादून। उत्तराखण्ड विधान सभा अध्यक्ष प्रेम चन्द अग्रवाल ने भराड़ीसैण (गैरसैण) में 20 मार्च से आहुत किये उत्तराखण्ड विधान सभा के बजट सत्र हेतु व्यवस्थायें सुनिश्चित किये जाने के सम्बन्ध में विधान सभा परिसर में शासन एवं विभागों के उच्च अधिकारियों के साथ बैठक की। इस अवसर पर विधान सभा सचिव जगदीश चन्द भी मौजूद रहे।

विधान सभा अध्यक्ष द्वारा सुरक्षा बैठक में विभिन्न विषयों पर गहनता से चर्चा की गयी। अबकि बार राज्यपाल का अभिभाषण भी भराड़ीसैंण में होना है जिस कारण अभिभाषण हेतु राज्यपाल के आगमनध्प्रस्थान के समय हैलिपैड से सम्बन्धित एवं सुरक्षा व्यवस्था पर खासा चर्चा की गयी। राज्यपाल के आगमन के दौरान स्थानीय लोगों द्वारा राज्यपाल जी का स्वागत किया जाना प्रस्तावित किया गया। इस बार ड्रोन कैमरे से सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रखी जायेगी।

 

सुरक्षा बैठक के दौरान विधान सभा अध्यक्ष ने शान्ति व्यवस्था, अग्नि शमन दल एवं उससे सम्बन्धित व्यवस्था, बिजली की सचारू व्यवस्था सुनिश्चित हाने के साथ, वाटर सप्लाई के लिए सम्बन्धित अधिकारयों को निदेश दिया कि व्यवस्थायें चैक चैबन्ध होनी चाहिए। बैठक में सत्र के दौरान भराडीसैंण में उपस्थित सभी मंत्री, विधायक, अधिकारियों एवं कर्मचारियों के खाने की उचित व्यवस्था पर भी जोर दिया गया। इस अवसर पर अग्रवाल ने बीएसएनएल के अधिकारयों को पिछले सत्र में नेटवर्क एवं इण्टरनेट की भारी समस्या को लेकर जमकर फटकार भी लगायी।

विधान सभा अध्यक्ष ने बीएसएनएल के अधिकारयों को साफ शब्दों में कहा कि इस बार ऐसी कोई भी कमी न रहे जिससे मीडिया एवं शासकीय कार्यवाही में कोई दिक्कत हो। श्री अग्रवाल ने कहा कि यदि नेटवर्क एवं वाई फाई की व्यवस्था अच्छी होगी तो सदन के कार्यो मे विभाग एवं शासन जिलों एवं सचिवालय से वीडियों कॉन्फ्रेसिंग के जरिये तुरन्त सम्पर्क साध कर सदन की कार्यवाही में तीव्रता ला सकते है।

विधान सभा अध्यक्ष ने बताया कि विधायकों एवं मंत्रीयों के रहने के लिए विधान सभा भवन भराणीसैण में 60 कमरे एवं 14 ऑफिसर रूम पूर्ण रूप से तैयार है। अधिकारी, स्टाफ तथा मीडिया के लिए गैरसैण, कर्णप्रयाग, आदिबद्री, गौचर तथा कालेश्वर के गढ़वाल मण्डल विकास के गैस्ट हाउस एवं लोक निर्माण विभाग, सिंचाई विभाग के गैस्ट हाउस को जिलाधिकारी स्तर से रोक दिया गया है।

विधान सभा अध्यक्ष ने स्वास्थ्य व्यवस्थाओं पर विशेष ध्यान देते हुए कहा डाक्टर की विधिवत व्यवस्था, सभी सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को अलर्ट रखने पर जोर दिया गया। साथ ही इमरजेन्सी के लिए स्वास्थ्य मोबाइल बैन 108 की उचित व्यवस्था तथा हैलीकाप्टर सेवा की बात कही गयी। अस्थायी एवं मोबाइल टोयलेट की व्यवस्था को गम्भीरता से लिया गया।

विधान सभा अध्यक्ष ने कहा कि इस बार का सत्र चुनौती भरा है क्योंकि इस बार राज्यपाल प्रथम बार भराडीसैंण आ रहे है और इस बार सत्र भी सबसे लम्बा चलने वाला है। श्री अग्रवाल ने सभी अधिकारियों से सहयोग की बात कही तथा बैठक में जिन भी विषयों पर विर्मश किया गया उन्हें जमीन स्तर पर सार्थक बनाने के लिए कहा।

बैठक में अनिल रतूड़ी पुलिस महानिदेशक, आनन्द वर्द्वन प्रमुख सचिव, आलोक कुमार वर्मा विधायी प्रमुख सचिव, अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरिक्षक, आशीष जोशी जिलाधिकारी चमोली, तृप्ति भटट वरिष्ठ पुलिस अधिक्षक चमोली, डा0 अर्चना श्रीवास्तव महानिदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य, बी0एल राना महाप्रबन्धक जी0एम0वी0एन, विनय शंकर पाण्डे राज्य सम्पत्ति अधिकारी, महानिदेशक सूचना एवं लोक सम्पर्क, महाप्रबन्धक बीएसएनएल, महाप्रबन्धक एन0बी0सी0सी0 एवं विभागों के प्रबन्ध निदेशक तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।