udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news गरूड़चट्टी को जोड़ने वाले मार्ग का निर्माण कार्य अप्रैल तक पूरा होगा 

गरूड़चट्टी को जोड़ने वाले मार्ग का निर्माण कार्य अप्रैल तक पूरा होगा 

Spread the love
देहरादून/रुद्रप्रयाग। केदारनाथ आपदा के बाद से वीरान पड़ी गरुड़चट्टी को जोड़ने के लिए पैदल रास्ते का निर्माण शुरू हो गया है। हालांकि अभी इस पूरे क्षेत्र में बर्फ पड़ी है, लेकिन कड़ाके की ठंड में बर्फ व मिट्टी को काटकर रास्ते का निर्माण हो रहा है। यात्रा शुरू होने से पूर्व लगभग ढ़ाई किमी पैदल रास्ते का निर्माण पूरा कर लिया जाएगा।
वर्ष 2013 में केदारनाथ आपदा के दौरान गरुड़चट्टी को जाने वाला पैदल मार्ग पूरी तरह तबाह हो गया था, रामबाड़ा से गरुड़चट्टी तक 5 किमी पैदल मार्ग पूरी पहाड़ी दरकने से नामोनिशान मिट गया था, केदारनाथ की ओर से भी गरुड़चट्टी को जाने वाला मार्ग को मंदाकिनी नदी बहा ले गई थी।
गत 20 अक्टूबर को देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने फिर से गरूड़चट्टी को जोड़ने की नीव रखी थी, जिसके बाद अब प्रशासन ने यहां पर कार्य शुरू कर दिया है। फिलहाल गरुड़चट्टी को केदारनाथ की ओर से जोड़ा जा रहा है। लगभग ढ़ाई किमी पैदल रास्ता बनाया जा रहा है। इन दिनों यहा काफी डेढ़ फीट तक बर्फ पड़ी है, बावजूद मजदूर बर्फ को काटकर रास्ते का निर्माण कर रहे हैं। अप्रैल महीने में यात्रा शुरू होने से पूर्व इसे पूरा कर लिया जाएगा।
केदारनाथ में गरूड़चट्टी को जोड़ने के लिए पुल का निर्माण नेहरू पर्वतारोहण द्वारा किया जा रहा है। आपदा के समय केदारनाथ बेस कैंप से पुराना घोड़ा पड़ाव के बीच झूला पुल बह गया था। जिसके बाद निम नया पुल बना रहा है। यह पुल भी आगामी यात्रा शुरू होने से पूर्व तैयार कर लिया जाएगा। गरुड़चट्टी को लिनचौली से भी जोड़ने की कवायद चल रही है।
इसके लिए गरुडचट्टी के पास मंदाकिनी के दूसरे छोर पर झूला पुल बनाया जाएगा। पुल के निर्माण से लिनचौली से सीधे गरुड़चट्टी पहुंचा जा सकेगा। गत दिनों प्रदेश के मुख्य सचिव उत्पल कुमार गुरुडचट्टी पैदल पहुंचकर इस पूरे क्षेत्र का निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए थे। अपने ड्रीम प्रोजेक्ट में प्रधानमंत्री गरूडचट्टी में आपदा से पूर्व जिस तरह रौनक रहती थी वही देखना चाहते हैं।
प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार जो पैदल मार्ग बनाया जा रहा है, प्रधानमंत्री स्वयं इस पैदल मार्ग का निरीक्षण करेंगे, तथा गरुड़चट्टी पैदल जाकर यहां पुरानी यादे ताजा करेंगे। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल का कहना है कि गरुड़चट्टी को जोड़ने के लिए केदारनाथ से पैदल मार्ग का निर्माण कार्य शुरू हो गया है, यात्रा शुरू होने से पूर्व इसका निर्माण पूरा कर लिया जाएगा। लिनचौली से भी गरुड़चट्टी को जोड़ने के लिए प्लान तैयार किया जा रहा है।