udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news इंटरनेट और सोशल मीडिया बड़ा खतरा :आर्मी चीफ 

इंटरनेट और सोशल मीडिया बड़ा खतरा :आर्मी चीफ 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नई दिल्ली। सेना प्रमुख जनरल बिपीन रावत ने बुधवार को कहा कि आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए इंटरनेट और सोशल मीडिया पर प्रतिबंध लगाना जरुरी है। 2018 रायसीना वार्ता में रावत ने कहा कि आतंकवाद से लडऩे के लिए सबसे पहले उन देशों की पहचान करना है जो आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे हैं।

उन्होने कहा, ‘हमें इंटरनेट और सोशल मीडिया पर कुछ जांच और प्रतिबंध लगाने की जरूरत है, जिसका आतंकवादी संगठन हमेशा सहारा लेते हैं। लोकतांत्रिक देश में लोग इसे पसंद नहीं करेंगे, लेकिन हमें एक सुरक्षित वातावरण चाहते हैं, इसलिए हमें अस्थायी तौर पर प्रतिबंधों को स्वीकार करने के लिए तैयार होगा, जिससे आतंकवाद से निपटा जा सके। हमें उन राष्ट्रों की पहचान करने की आवश्यकता है जिनके पास आतंकवाद का समर्थन करने के लिए एक राज्य-प्रायोजित नीति है।

जनरल रावत ने कहा, ‘आतंक अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के लिए नया नहीं है, लेकिन आतंकवाद का समकालीन अब एक बदलाव देख रहा है। पहली बात यह है कि आतंकवादी की पहचान को परिभाषित करना है। वास्तव में एक आतंकवादी कौन है? तथ्य यह है कि नागरिक जीवन और संपत्ति में व्यवधान पैदा करने के लिए हिंसा का उपयोग करता है, वह एक आतंकवादी है।

रावत ने कहा, ‘आतंकवादी ऐसी तकनीक का इस्तेमाल करने लगे हैं जो उच्च गुणवत्ता के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा पर लगाए गए हैं। हमें आतंकियों और उनके स्पॉन्सर्स को नष्ट करना होगा। हमें आतंक स्पॉन्सर करने वाले देशों की पहचान करनी होगी।’

उन्होने कहा कि आतंकवाद को खत्म करने के लिए वैश्विक समुदाय को इसके खिलाफ एक साथ खड़ा होना होगा और इसका सामना करना होगा। उन्होंने आगे कहा कि आतंकवादियों के हाथों में परमाणु और रासायनिक हथियारों की पहुंच मानवता के लिए बहुत खतरनाक है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •