udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news डिजिटल ट्रांजैक्शन के 15 हजार लकी विजेताओं के नाम की हुई घोषणा

डिजिटल ट्रांजैक्शन के 15 हजार लकी विजेताओं के नाम की हुई घोषणा

Spread the love

नई दिल्ली। बीते नौ नवंबर से 21 दिसंबर के बीच हुए आठ करोड़ डिजिटल लेनदेनों में से 15 हजार भाग्यशाली विजेता चुने गये हैं। डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई स्कीम के तहत चार मुख्य श्रेणियों में विजेताओं को चुना गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को आम लोगों के लिए लकी ग्राहक योजना और कारोबारियों के लिए डिजिधन व्यापार योजना शुरू की थी। मोदी ने स्कीम को क्रिसमस गिफ्ट करार देते हुए कहा था कि इसके तहत 15 हजार लोगों को इनाम मिलेगा। उनमें से प्रत्येक के खाते में एक-एक हजार रुपये इनाम के तौर पर जमा होंगे। एक सरकारी बयान के अनुसार नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआइ) ने विजेताओं की घोषणा है। विजेताओं को उसके बैंक से मैसेज भेजा जाएगा। इनाम की राशि अगले 24 घंटों में उनके खातों में जमा हो जाएगी। विजेताओं में यूएसएसडी के 100, यूपीआइ के 1500, आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (एईपीएस) के 1500 और रुपे के 11900 ग्राहक शामिल हैं। विजेताओं ने संबंधित भुगतान माध्यम से डिजिटल पेमेंट किया था। पूरे देश की 125 करोड़ की आबादी में 75 करोड़ क्रेडिट व डेबिट कार्ड हैं। इनमें से 45 करोड़ कार्डो का सक्रियता से इस्तेमाल हो रहा है। सरकार को उम्मीद है कि लकी ग्राहक योजना और डिजिधन योजना से डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा मिलेगा। इन योजनाओं के तहत रोजाना और साप्ताहिक आधार पर ड्रॉ निकाला जाएगा। 14 अप्रैल 2017 को मेगा ड्रॉ निकाला जाएगा। भारत पेट्रोलियम के कैशलेस ट्रांजेक्शन 26 फीसद बढ़े : भारत पेट्रोलियम ने कहा है कि उसके पेट्रोल पंपों पर आठ नवंबर के बाद से कैशलेस ट्रांजेक्शन में 26 फीसद की वृद्धि हुई है। उम्मीद है कि अगले साल मार्च तक तेल कंपनियों के 50 फीसद डिजिटल लेदेन होने लगेंगे। कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने के लिए भारत पेट्रोलियम ने भारतीय स्टेट बैंक, एचडीएफसी बैंक और कुछ अन्य प्रमुख बैंकों के साथ समझौता किया है। इसके तहत पेट्रोल पंपों पर प्वाइंट ऑफ सेल यानी स्वाइप मशीन लगाई जाएगी। पेटीएम, फ्रीचार्ज, ऑक्सीजेन, रिलायंस जियो, एसबीआइ बडी और फिनो से मोबाइल वॉलेट के जरिये भुगतान के लिए समझौता किया जा रहा है।
00