udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news जल स्रोतों के पुनर्जीवीकरण व वृक्षारोपण पर विशेष फोकस

जल स्रोतों के पुनर्जीवीकरण व वृक्षारोपण पर विशेष फोकस

Spread the love
देहरादून: भारतीय सेना की इको टास्क फोर्स पिथौरागढ़ में 50 हजार अखरोट के पेड़ लगाने जा रही है। इसके साथ ही चमोली के गोपेश्वर व जोशीमठ में भी  अखरोट के उन्नत प्रजाति के पेड़ लगाए जा रहे हैं।
इको टास्क फोर्स द्वारा हिमाचल की उन्नत प्रजाति के सेब के पौधे राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में लगाए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास में सेना की इको टास्क फोर्स के कर्नल वेद व्रत वैद्य ने शिष्टाचार भेंट की।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र को कर्नल वेद व्रत वैद्य ने बताया कि सेना की इको टास्क फोर्स के 458 जवानों द्वारा कुमाऊं मंडल में तथा 459 जवानों द्वारा गढ़वाल मंडल में व्यापक स्तर पर वृक्षारोपण एवं पर्यावरण संरक्षण का कार्य किया जा रहा है। इसके साथ ही रिस्पना नदी व अन्य जल स्रोतों के पुनर्जीवीकरण व वृक्षारोपण पर विशेष फोकस किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि राज्य सरकार पर्वतीय क्षेत्रों में उन्नत प्रजाति के अखरोट, सेब व अन्य फलदार वृक्षों के रोपण को प्रोत्साहित कर रही है। इससे स्थानीय लोगों की आय में वृद्धि के साथ ही पर्यावरण संरक्षण भी होगा।