udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news जीपीडीपी के संचालन के बारे में प्रोजेक्टर के माध्यम से जानकारी दी

जीपीडीपी के संचालन के बारे में प्रोजेक्टर के माध्यम से जानकारी दी

Spread the love

रूद्रप्रयाग: जनपद की सभी 336 ग्राम पंचायतों में मूलभूत सुविधाओं की स्थिति के बारे में पता करने के लिए सबकी योजना सबका विकास के तहत आयोजित बैठक में पंचायत कर्मिकों तथा रेखीय विभागों को ग्राम पंचायत विकास कार्यक्रम जीपीडीपी के संचालन के बारे में प्रोजेक्टर के माध्यम से जानकारी दी गयी।

विकास भवन सभागार में आयोजित बैठक को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी मंगेष घिल्डियाल ने कहा कि जिले को सभी 336 ग्राम पंचायतों में मूलभूत सुविधाओं की स्थिति का पता लगाने के लिए सबकी योजना सबका विकास के तहत सर्वे किया जा रहा है। मिषन अन्त्योदय एप के जरिए हो रहे इस सर्वे में स्वच्छता, पेयजल आपूर्ति, कृर्षि, विद्यालय, पंचायत भवन, पषुपालन की स्थिति परखी जा रही है।

 

जिलाधिकारी ने 02 अक्टूबर से 31 दिसम्बर तक सभी ग्राम पंचायतों में दो बैठकों का आयोजन कर सुविधाओं की पूर्ति के लिए कार्ययोजना तैयार करने के निर्देष रेखीय विभागों को दिये। उन्होने अधिकारियों का अपने विभाग के पास उपलब्ध रिसोर्स एवं संसाधनों को ध्यान में रखते जीपीडीपी के तहत विकास योजनाओं का खाका तैयार करने को कहा।

 

उन्होने विकास कार्य योजना का फाइनल प्लान कर ग्राम सभा की खुली बैठक में उसका अनुमोदन करते हुए निर्धारित पोर्टल पर अपलोड करने पर बल दिया। उन्होनें सभी विभागों को आपस में समन्वय बनाकर विकास कार्यो का सही आकंलन करते हुए जीपीडीपी एप में अपलोड करने को कहा है। कहा कि ग्राम पंचायतों में जो भी विकास कार्यो की कमियां नजर आती है उन्हें जीपीडीपी एप पर अपलोड करना सुनिष्चित करें।

मुख्य विकास अधिकारी एन.एस रावत ने बताया है कि ग्राम पंचायतों के समग्र विकास के लिए सभी ग्राम पंचायतों में ग्राम पंचायत विकास कार्यक्रम (जीडीपीडी) का निर्धारण किया जाना है। कहा कि इसके पहले चरण के तहत 02 अक्टूबर से 31 दिसम्बर तक सभी ग्राम पंचायतों में बैठक का आयोजन कर रेखीय विभागों के साथ योजनाओं के विकास पर चर्चा की जानी है।

 

उन्होने सभी रेखीय विभागों से ग्राम पंचायतों में आयोजित होने वाली बैठक में अनिवार्य रूप से प्रतिभाग करने को कहा। ताकि विभाग द्वारा सबंधित ग्राम पंचायतों में संचालित योजनाओं एवं उपलब्ध संसाधनों की पूरी जानकारी मिल सके।

इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी ए.एस. गुन्जयाल, अर्थ एवं संख्या अधिकारी राजेष कुमार, परियोजना अर्थषास्त्री एम.एस. नेगी, मुख्य षिक्षा अधिकारी चित्रानंद काला, मुख्य पषु चिकित्साधिकारी डॉ रमेष सिंह नितवाल, कृषि अधिकारी एस.एस. वर्मा, खण्ड विकास अधिकारी अगस्त्यमुनि धनेष्वरी नेगी, जिला समाज कल्याण अधिकारी बलवन्त सिंह रावत, जिला पूर्ति अधिकारी के.एस. कोहली, सहायक पंचायत राज अधिकारी बुद्वि सिंह रावत सहित संबधित विभागों के अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे।