udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news कर्मचारियों के तबादले स्थानांतरण एक्ट के तहत ही सम्भव: मुख्यमंत्री

कर्मचारियों के तबादले स्थानांतरण एक्ट के तहत ही सम्भव: मुख्यमंत्री

Spread the love
  • मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आम लोगों से मिलकर उनकी शिकायतों व समस्याओं का निस्तारण किया।
  • सीएम आवास स्थित जनता मिलन हाॅल में जनता मिलन कार्यक्रम आयोजित।
  • कार्यक्रम में 100 से अधिक लोगों की शिकायतें दर्ज।
देहरादून: मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को मुख्यमंत्री आवास के जनता मिलन हाॅल में आम जनता से मुलाकात कर उनकी समस्याओं व शिकायतों को सुना तथा सम्बन्धित अधिकारियों को उनके निस्तारण के निर्देश दिए। जन-सुनवाई कार्यक्रम में लगभग 100 से अधिक मामले दर्ज किए गए। इनमें लोनिवि, सिंचाई, परिवहन, ग्राम्य विकास, स्वास्थ्य, राजस्व, ऊर्जा, नगर निगम, पुलिस आदि विभागों से संबंधित थे।
राजकीय सेवा के अनेक कार्मिको द्वारा दुर्गम से सुगम में स्थानान्तरण के मामले लाए जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि स्थानान्तरण सम्बन्धित अनुरोध जनसमस्याओं की सुनवाई के दौरान बिल्कुल न लाए जाएं। राज्य में ट्रांसफर एक्ट लागू होने से राजकीय सेवाओं के सभी स्थानान्तरण नियामानुसार किए जाएगे। स्थानांतरण के लिए जनता मिलन कार्यक्रम उचित फोरम नहीं है।
कार्यक्रम के दौरान अपने ट्रांसफर के लिए आई उत्तरकाशी की एक प्राईमरी शिक्षिका ने अभद्रता दिखाई और अपशब्दों का प्रयोग किया। शिक्षिका से अपनी बात मर्यादित ढंग से रखने का अनुरोध किए जाने पर भी जब शिक्षिका ने लगातार अभद्रता का परिचय दिया तो उक्त शिक्षिका को निलम्बित करने के निर्देश दिए गए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जनसाधारण की वाजिब शिकायतों को दूर करने के लिए राज्य सरकार तत्पर है। लोगों की समस्याओं का उनके गांव, ब्लाॅक व जिला स्तर पर समाधान हो सके इसके लिए जिलाधिकारी, उपजिलाधिकारी स्तर पर भी नियमित रूप से शिकायत निवारण शिविर लगाए जाते हैं।
 जनता मिलन कार्यक्रम के दौरान हल्द्वानी निवासी श्री खुशीराम ने बताया कि उनकी जमीन पर कुछ लोगो ने  अवैध कब्जा कर लिया है तथा उनको असामाजिक तत्वों द्वारा परेशान किया जा रहा है। इस पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने जिलाधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक नैनीताल को तत्काल मामले की जांच के निर्देश दिए। श्री वाचस्पति बहुखण्डी द्वारा देहरादून से बैजरो वाया ऋषिकेश-सतपुली रूट पर रोडवेज बस सेवा हेतु अनुरोध किया गया। जिस पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया।
अध्यक्ष टिहरी मूल विस्थापित संगठन द्वारा टिहरी बांध विस्थापितों को निःशुल्क पानी व बिजली आपूर्ति, खाता-खतौनी की लागत कम करने की मांग रखी गई। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र द्वारा सकारात्मक सहयोग की बात कही गई। देहरादून की रहने वाली सुश्री मिलि कौर जो कि असहाय घायल जानवरो के उपचार के लिए काम करती है, ने एक पशु अस्पताल के लिए भूमि की मांग का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने घायल पशुओं की सेवा-उपचार हेतु सुश्री मिलि कौर की प्रंशसा करते हुए उन्हें उचित सहयोग का आश्वासन दिया।
देहरादून के श्री हुकुम सिंह द्वारा देहरादून कोषागार में अपनी लम्बित पेंशन की शिकायत की। मुख्यमंत्री ने मौके पर ही जिलाधिकारी देहरादून को उचित कार्यवाही के निर्देश दिए। अध्यक्ष बार ऐसोसिएशन टिहरी द्वारा टिहरी में डम्पिंग जोन तथा वाहन पार्किंग की समस्याओं से अवगत कराया गया।
मुख्यमंत्री ने सम्बन्धित अधिकारियों को उचित कार्यवाही के निर्देश दिए। श्रीमती करूणा अग्रवाल द्वारा बताया गया कि रायपुर स्थित उनके आवास में बरसात के मौसम में पुस्ता न बनने के कारण बारिश का पानी घर में घुस जाता है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को उचित कार्यवाही के लिए कहा।
देहरादून जिले की श्रीमती राजेश्वरी देवी द्वारा बताया गया कि उनकी जमीन गिरी गांव में है। वर्तमान में वह राष्ट्रीय राजमार्ग के तहत आ रही है। परंतु इसका मुआवजा किसी अन्य व्यक्ति को दिया जा रहा है। इस पर मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को मामले की जांच कर कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
श्री अमर शेखर द्वारा ऊर्जा निगम में चयन के बाद भी अभी तक नियुक्ति प्रक्रिया पूरी न होने की बात कहे जाने पर मुख्यमंत्री ने मामले का परीक्षण कर शीघ्र कार्यवाही किए जाने के प्रति आश्वस्त किया। काशीपुर में एक व्यक्ति द्वारा किसी महिला के पैसे हड़प किए जाने की शिकायत पर एसएसपी ऊधमसिंहनगर को जांच करने के निर्देश दिए गए।
इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश, जिलाधिकारी देहरादून श्री एस.ए.मुरूगेशन सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।