udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news केदारघाटी में स्वच्छता अभियान चलाया

केदारघाटी में स्वच्छता अभियान चलाया

Spread the love
रूद्रप्रयाग: भारत रत्न पं0 गोविन्द बल्लभ पंत की 131वीं जयंती जनपदभर में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। जिला मुख्यालय के कोटेश्वर, नगरासू, सुमाडी, तिलवाडा, मयाली, चन्द्रपुरी सहित केदारनाथ यात्रा के समस्त यात्रा पडाव केदारनाथ, लिनचैली, गौरीकुण्ड, सोनप्रयाग में प्रातः07 से 08 बजे तक स्वच्छता अभियान चलाया गया।
इस अवसर पर विभिन्न स्कूली छात्र-छात्राओ द्वारा विभिन्न स्थलों पर स्वच्छता रैली भी निकाली गई। पुराने विकास भवन में पं0 गोवन्दि बल्लभ पंत की प्रतिमा पर उप जिलाधिकारी देवानन्द ने एवं जिलास्तरीय अधिकारियों ने माल्यापर्ण कर श्रद्धासुमन अर्पित किये। वही दूसरी ओर जनपद के सभी कर्यालयों एवं स्कूलों में भी पंत जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनके चित्रों पर माल्यापर्ण किया गया तथा उनके आदर्शो पर चलने का संकल्प लिया गया।
पन्त जी की जयंती पर राजकीय इण्टर काॅलेज, रूद्रप्रयाग में अन्तर-विद्यालयी निबन्ध प्रतियोगिता, भाषण, चित्रकला एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ वही खेल विभाग द्वारा बैडमिन्टन, वालीबाल, बास्केटबाल सहित अन्य प्रतियोेगिता का आयोजन किया गया।
इस अवसर पर उप जिलाधिकारी सदर देवानन्द ने कहा कि भारत रत्न पं0 गोविंद बल्लभ पंत द्वारा देश के लिये किये गये कार्यो को कभी भुलाया नही जा सकता है। आजादी दिलाने के साथ ही स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद देश को दिशा देने में उनका अविस्मरणीय योगदान रहा।
वर्तमान में जरूरत है कि प्रत्येक नागरिक को उनके पदचिन्हों पर चलना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश को आगे बढाने के लिए सभी को अपने नैतिक दायित्वों को निभाने के साथ ही एकता, अखण्डता व स्वतंत्रता को बनाये रखने में अहम भूमिका निभानी होगी। उन्होंने कहा कि अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा अपने दायित्वों एवं कर्तव्यों का पूरी निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ निर्वहन करना ही पन्त जी के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
इस अवसर पर सीवीओ डाॅ रमेश सिंह नितवाल, डीडीओ ए एस गुज्याल, अधिशासी अभियंता आरडब्ल्यूडी श्रीपति डोभाल, डीएचओ योगेन्द्र सिंह, डीएसओ के एस कोहली, टीटीओ डाॅ संगीता डोभाल, केबीएसए एस एस वर्मा सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों व कर्मचारियों ने भी पंन्त जी की प्रतिमा पर माल्यापर्ण कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए उनके आदर्शो पर चलने का संकल्प लिया।