udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news खुलासा : केजरीवाल ने 3 साल में चाय-समोसों पर खर्च किए 1 करोड़ रुपए

खुलासा : केजरीवाल ने 3 साल में चाय-समोसों पर खर्च किए 1 करोड़ रुपए

Spread the love

नई दिल्ली । दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अब चाय-नाश्ते पर किए जाने वाले खर्च को लेकर आलोचकों के निशाने पर है। दरअसल, एक आरटीआई आवेदन से यह खुलासा हुआ है कि सत्ता में आने के बाद से तीन सालों में मुख्यमंत्री ऑफिस द्वारा चाय-नमकीन पर 1.03 करोड़ (1,03,04,162) खर्च किए गए हैं। हल्द्वानी के ऐक्टिविस्ट हेमंत सिंह गौनिया ने फरवरी में इस संबंध में आरटीआई आवेदन डाला था।

 

ऐक्टविस्ट को सप्ताह के शुरुआत में आरटीआई आवेदन का जवाब मिला है। इसमें बताया गया है कि वित्त वर्ष 2015-16 की अवधि में चाय और नमकीन पर 23.12 लाख रुपये जबकि 2016-17 की अवधि में 46.54 लाख रुपये खर्च हुए हैं। उसी तरह वित्त वर्ष-2017-18 की अवधि में चाय और नमकीन पर 33.36 लाख रुपये खर्च हुए हैं।

 

2016 में 47.29 लाख रुपये में से 22,42,320 का बिल उनके सचिवालय ऑफिस और 24,86,921 का बिल उनके कैम्प ऑपिस में आया है। अभी इस मामले में मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से कोई जवाब नहीं आया है।

 

उधर, गौनिया ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा, यह ऐसा खर्च है जिसपर लगाम लगाया जाना चाहिए और पैसा उन लोगों पर खर्च होना चाहिए जिनको एक वक्त का खाना नसीब नहीं होता। मुझे उम्मीद है कि अच्छे कार्यों के लिए सरकार अपने खर्चों में कटौती करेगी। उल्लेखनीय है कि सीएम ने सेंट्रल दिल्ली के भगवान दास रोड स्थित दो डुप्लेक्स फ्लैट में शिफ्ट किया है जिसमें 5 बेडरूम हैं। केजरीवाल एक डुप्लेक्स में परिवार के साथ रहते हैं जबकि दूसरे को कैम्प ऑफिस बनाया गया है।

 

खर्चों को लेकर आए आंकड़े से पता चला है कि 2015-16 की अवधि में चाय-नाश्ते पर 23,12,430, रुपये में से 5,59,280 कैम्प ऑफिस में खर्च हुए हैं जबकि सचिवालय ऑफिस में 17,53,150 रुपये। 2016-17 में 46,54,833 रुपये में से 15,91,631 सचिवालय ऑफिस और 30,63,202 रुपये कैम्प ऑफिस में खर्च हुए हैं।

 

वित्त वर्ष 2017-18 में दिल्ली सीएम के ऑफिस द्वारा चाय और नमकीन पर खर्च किए गए 33,36,899,रुपये में से 6,92,284 सचिवालय ऑफिस में जबकि 26,44,615 रुपये कैम्प ऑफिस में खर्च हुए हैं।

 

इस तरह की एक आरटीआई आवेदन उत्तराखंड सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के ऑफिस को लेकर भी डाला गया था जिससे यह जानकारी सामने आई थी कि 10 महीने के कार्यकाल में उनके ऑफिस में चाय और नमकीन पर 68 लाख रुपये खर्च किए गए ।

 

वहीं 2016 में उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी सरकार तब चर्चा में थी जब चार साल के कार्यकाल में चाय और नमकीन पर 9 करोड़ रुपये खर्च किए जाने की जानकारी सामने आई थी।