udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news क्रूरताः  पहले किया किडनैप,फिर पिटाई और डाल दिया BF की दोनों आंखों में तेजाब !

क्रूरताः  पहले किया किडनैप,फिर पिटाई और डाल दिया BF की दोनों आंखों में तेजाब !

Spread the love

बिहार. क्रूरताः  पहले किया किडनैप,फिर पिटाई और डाल दिया BF की दोनों आंखों में तेजाब ! मामला बिहार का है। बिहार में कुछ भी हो सकता है और हुआ भी यही।

 

जानकारी के अनुसार, बेगूसराय में एक युवक को शादीशुदा महिला से प्यार करना महंगा पड़ गया। महिला के परिजनों ने प्रेमी गौतम कुमार को अगवा कर उसके साथ मारपीट की और दोनों आंखों में तेजाब डाल दिया। तेजाब डालने से गौतम की दोनों आंखों की रोशनी चली गई है। वह समस्तीपुर का रहने वाला है। तेघड़ा थाना क्षेत्र के बरौनी फ्लैग के रहने वाले दयाराम सिंह की पत्नी के साथ उसका अफेयर था। गौतम दयानंद के यहां पहले ड्राइवर था। इसी दौरान दो बच्चों की मां से उसका अफेयर हुआ।

 

पत्नी के साथ अफेयर से नाराज दयाराम ने एनएच-28 पर तेघड़ा के पास से गौतम को अगवा कर लिया। इसके बाद अपने सहयोगियों के साथ उसे सुनसान इलाके में ले जाकर जमकर पीटा और सिरिंज से दोनों आंखों में तेजाब डाल दिया। गौतम को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसके सिर में भी गंभीर चोट है। फिलहाल गौतम की स्थिति नाजुक है। आंखों में तेजाब डालने के बाद गौतम कुछ भी देखने में असमर्थ है। उसका इलाज कर रहे चिकित्सक भले ही उसे खतरे से बाहर बता रहे हैं, लेकिन गौतम अब जीवन में कभी भी नहीं देख पाएगा।

बताया जा रहा है कि आरोपी दयाराम सिंह ने तेघड़ा पुलिस के नाम से फर्जी कॉल कर गौतम को तेघड़ा बुलाया था। गौतम ने बताया कि वह समस्तीपुर में अपने गांव में था। उसे फोन आया कि मैं तेघड़ा थाना से बोल रहा हूं। तुम्हारी प्रेमिका तुम्हारे साथ रहना चाहती है। इसलिए तुम आकर उसे ले जाओ। यह सुन कर मैं अपनी प्रेमिका से मिलने तेघड़ा आ रहा था।

 

तेघड़ा आने के दौरान ही एनएच-28 पर पिपरा चौक के पास दयाराम सिंह अपने 10 सहयोगियों के साथ स्कॉर्पियो वाहन से मुझे अगवा कर पास के ही रोशन सिंह के लाइन होटल पर ले गए। गौतम का कहना है कि इस दौरान एक कमरे में बंद कर उसकी पत्थरों से जमकर पिटाई की गई और यह कहते हुए दोनों आंखों में सिरिंज से तेजाब डाल दिया कि इन्हीं आंखों से ही तुमने मेरे घर की महिला की तरफ देखने की हिम्मत जुटाई।

 

गौतम दयाराम सिंह के यहां वर्षों से चालक का काम करता था। दयाराम के यहां काम करने के दौरान ही उसकी पत्नी अर्चना देवी के साथ गौतम को प्रेम हो गया। लंबे समय तक प्रेम प्रसंग चलने के बाद 6 फरवरी को अर्चना देवी अपने प्रेमी गौतम कुमार के साथ फरार हो गई। इस संबंध में प्रेमिका के परिजनों ने तेघड़ा थाना में मामला दर्ज कराया तो अर्चना को पुलिस ने लगभग 10 दिनों के बाद समस्तीपुर के पास से गौतम के साथ बरामद कर लिया।

 

जिसके बाद 164 के तहत कोर्ट में बयान कराया गया। जहां बयान के बाद कोर्ट के आदेश से अर्चना देवी को उसके पति के पास भेज दिया गया। उधर, एसडीपीओ बीके सिंह ने बताया कि मामले के मुख्य आरोपी दयाराम सिंह को शनिवार देर शाम छापेमारी के बाद गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है। एक मेडिकल टीम का भी गठन कर जांच की जा रही है कि गौतम की आंखों में आखिर क्या डाला गया है।