udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news लैपटॉप अब फ्लाइट में नहीं ले जा सकेंगे

लैपटॉप अब फ्लाइट में नहीं ले जा सकेंगे

Spread the love

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय नागरिक विमानन संगठन (आईसीएओ) के एक प्रस्ताव पर मुहर लगी तो आप फ्लाइट में अपने साथ लैपटॉप नहीं ले जा सकेंगे. इस बारे में आईसीएओ की तरफ से एक प्रस्ताव दिया गया है.

 

यह प्रस्ताव पास हुआ तो लैपटॉप को चेक-इन लगेज में ले जाने पर रोक लग सकती है. पिछले दिनों फ्लाइट में मोबाइल में आग लगने की खबरों के बाद आईसीएओ की तरफ से इस प्रस्ताव को दिया गया है.

 

आईसीएओ के प्रस्ताव के तहत फ्लाइट में ले जाने वाले सामानों में आग लगने के खतरे के चलते हुए लैपटॉप ले जाने पर रोक लगने की संभावना जताई जा रही है. हाल ही में दिल्ली-इंदौर की उड़ान में मोबाइल फटने के बाद अफरा-तफरी मच गई थी. इस तरह के हादसों से निपटने के लिए क्रू मेंबर्स को भी प्रशिक्षण दिया जा रहा है.

 

आईसीएओ की तरफ से मिले प्रस्ताव को यदि किसी बड़ी एविएशन एजेंसी की तरफ से लागू किया जाता है तो डीजीसीए भी इसको लागू कर सकता है.डीजीसीए ने पहले ही पावर बैंक, पोर्टेबल मोबाइल चार्जर और ई-सिगरेट को चेक इन बैग में ले जाने पर प्रतिबंध लगाया हुआ है.

 

इस संबंध में अमेरिकी फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन ने आईसीएओ को एक टेस्ट रिपोर्ट भी सौंपी है. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि चेक इन बैक में आग लगने की घटना से विमान दुर्घटना का शिकार हो सकता है.

 

अमेरिकी एजेंसी की तरफ से सौंपी गई रिपोर्ट में बताया गया कि 10 पूरी तरह से चार्ज लैपटॉप को एक सूटकेस में रखकर शोध किया गया, जिसके आधार पर पाया गया कि इलेक्ट्रानिक डिवाइस से विस्फोट होने का खतरा बढ़ जाता है.

 

ऐसे में फ्लाइट के अंदर मौजूद आग बुझाने के उपकरण भी कामगर साबित नहीं होते. इस तरह के हादसों में बड़ा नुकसान होने का खतरा बना रहता है.

 

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक आईसीएओ इस महीने के अंत तक इस प्रस्ताव पर फैसला ले सकती है. यदि आईसीएओ की तरफ से लैपटॉप को खतरनाक सामानों की सूची में रखा जाता है तो यह प्रत्येक देश की नियामकों पर निर्भर करेगा कि वे विमान में लैपटॉप को ले जाने की अनुमति देते हैं या नहीं.