udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news मकान मालिक ने घर में घुसने नहीं दिया भीगती रही मां

मकान मालिक ने घर में घुसने नहीं दिया भीगती रही मां

Spread the love

हैदराबाद। एक महिला अपने दस साल के बेटे की लाश के साथ रात भर घर के बाहर भीगती रही। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि उसके मकान मालिक ने उसे बेटे की लाश के साथ अंदर नहीं जाने दिया। दिल दहला देने वाली यह घटना हैदराबाद कुकाटपल्ली इलाके के वेंकटेश्वर नगर की है।

 

महबूब नगर जिले की ईश्वरम्मा पिछले चार साल से इसी घर में किराए पर रह रही थीं। उसके दो बेटे थे। उसके 10 वर्ष के बड़े बेटे सुरेश को डेंगू हुआ था। उसे ईश्वरम्मा ने सरकारी अस्पताल नीलोफर में भर्ती कराया था, जहां उसके बेटे ने दम तोड़ दिया। रात होने की वजह से वह अपने बेटे के शव को घर ले आईं, लेकिन मकान मालिक जगदीश गुप्ता ने उसे और उनके बेटे के शव को घर के अंदर आने से मना कर दिया।

 

मकान मालिक का कहना था कि हाल ही में उसकी बेटी की शादी हुई है अगर शव घर के अंदर आया तो अपशगुन हो सकता है। ईश्वरम्मा रात भर शव और अपने छोटे बेटे के साथ सडक़ पर रहीं। मकान मालिक ने तेज बारिश में भीगती मां उसके छोटे बेटे और दूसरे बेटे के शव के साथ कोई हमदर्दी नहीं दिखाई।

 

पड़ोसियों ने बढ़ाया हाथ
जगदीश गुप्ता की निर्ममता पर पड़ोसियों ने मरहम लगाया। पड़ोसियों ने तिरपाल की व्यवस्था की और तीनों के ऊपर एक छत बनाया। पड़ोसियों ने शव रखने के लिए एक बॉक्स लाया। पड़ोसियों ने मकान मालिक के इस कृत्य की निंदा करते हुए उन्होंने शव के अंतिम संस्कार के लिए आपसी सहयोग से धन भी जुटाया।