udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण के मध्य एमओयू

मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण के मध्य एमओयू

Spread the love
देहरादून: मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की उपस्थिति में मुख्यमंत्री आवास में मंगलवार को देहरादून रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास व सौन्दर्यीकरण के लिए रेलवे बोर्ड व मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण के मध्य एमओयू किया गया। योजना के तहत देहरादून रेलवे स्टेशन में वल्र्ड क्लास इन्फ्रास्ट्रक्चर विकसित किया जाएगा।
  कमर्शियल विकास के तहत देहरादून रेलवे स्टेशन की भीड़ को कम करने के लिए टैªफिक व्यवस्था का सृदृढ़ीकरण व सुधार, मल्टीलेवल पार्किंग निर्माण, पुलिस चैकी व टैक्सी स्टैण्ड का आधुनिकीकरण, मल्टीप्लैक्स, 4 स्टार होटल, रेस्टोरेन्ट, किड जोन व चैक इन पाॅइन्टस का निर्माण, फूड कोर्ट की स्थापना, आधुनिकतम सुविधायुक्त टिकट व रिर्जवेशन काउन्टर्स, रेस्ट रूम, डोरमेटरी जनसुविधाएं व एटीएम  बनाए जाएंगे।
निर्धनों के लिए जनता आहार की व्यवस्था भी की जाएगी।  इसके साथ ही रेलवे गेस्ट हाउस, रेलवे अधिकारियों/कर्मचारियों के लिए अपार्टमेन्ट, पार्किंग, एलआईजी, एमआईजी फ्लैट्स का निर्माण किया जाएगा। देहरादून रेलवे स्टेशन में सबके लिए सभी तरह की सुविधाएं उपलब्ध होगी। देहरादून रेलवे स्टेशन को हर्रावाला रेलवे स्टेशन, आईएसबीटी व जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट से जोड़ने के लिए कार्य किए जाएंगे।
इसके साथ ही हर्रावाला रेलवे स्टेशन को सेटेलाइट रेलवे स्टेशन के रूप में विकसित किया जाएगा। हर्रावाला रेलवे स्टेशन के पास ही ट्रांसपोर्ट नगर भी विकसित किया जाएगा। देहरादून रेलवे स्टेशन पुनर्विकास प्रोजेक्ट के सम्बन्ध में एमडीडीए द्वारा रेलवे बोर्ड को प्रीफिजीबिलिटी रिर्पोट सौंप दी गई है। इस प्रोजेक्ट की लागत लगभग 12242.50 लाख रूपये है। प्रोजेक्ट लगभग ढाई वर्षो में पूरा हो जाएगा।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने देहरादून रेलवे स्टेशन पुनर्विकास योजना के लिए रेलवे बोर्ड व एमडीडीए को बधाई व शुभकामनाएं दी।
इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री श्री यशपाल आर्य, विधायक श्री गणेश जोशी, मुख्यमंत्री के औद्योगिक सलाहकार श्री के0 एस0 पंवार, एमडीडीए के उपाध्यक्ष डा0 आशीष कुमार श्रीवास्तव, रेल भूमि विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री राकेश गोयल, सदस्य श्री अंजनी कुमार व अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।