udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news नहीं थम रही घुसपैठ : बाराहोती में चीनी सैनिकों ने की घुसपैठ !

नहीं थम रही घुसपैठ : बाराहोती में चीनी सैनिकों ने की घुसपैठ !

Spread the love

देहरादून : चीन और भारत के बीच लंबे अरसे से चल रहे सीमा विवाद के बीच घुसपैठ की एक और घटना सामने आई है। सूत्रों के मुताबिक चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने एक बार फिर भारतीय इलाके में घुसपैठ की है। इससे पहले डोकलाम को लेकर दोनों देशों के बीच विवाद हो चुका है।

सूत्रों के मुताबिक अगस्त में उत्तराखंड के बाराहोती में पीएलए के सैनिकों ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के अंदर तीन बार घुसपैठ की। इस दौरान चीनी सैनिक 4 किलोमीटर अंदर तक भारतीय इलाके में पहुंच गए।

 

आईटीबीपी के जवानों ने इस दौरान चीनी सैनिकों से कड़ा विरोध जताया। इसके बाद वे अपने क्षेत्र में वापस चले गए। आईटीबीपी की रिपोर्ट के मुताबिक घुसपैठ की यह घटना तीन बार हुई। 6 अगस्त, 14 अगस्त और 15 अगस्त को बाराहोती में आईटीबीपी की पोस्ट के पास चीनी सैनिक नजर आए।

 

पिछले साल सिक्किम सेक्टर के डोकलाम में दो महीने से ज्यादा वक्त तक भारत-चीन के बीच सैन्य गतिरोध लंबे कूटनीतिक प्रयासों के बाद खत्म हुआ था। इस साल अबतक चीन की सेना ने 170 बार भारतीय सीमा का अतिक्रमण किया है। 2016 में पीएलए 273 बार भारतीय सीमा में घुसी थी।

 

पिछले साल तो चीनी सैनिकों ने 426 बार भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की थी। पिछले साल ही भूटानी भूभाग में स्थित डोकलाम के पास सिक्किम-भूटान-तिब्बत के त्रिकोण पर दोनों देशों की सेनाओं के बीच 73 दिनों तक गतिरोध बना हुआ था।

 

हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया ने पहले ही अपनी रिपोर्ट में बताया था कि पिछले साल जून में साउथ डोकलाम में जामफेरी रिज की तरफ वाहन जाने योग्य मौजूदा सड़क के विस्तार की कोशिश में लगे चीनी सैनिकों को भारतीय सैनिकों ने रोक दिया था।

 

हालांकि बाद में पीएलए ने नॉर्थ डोकलाम में न सिर्फ मिलिटरी इन्फ्रास्ट्रक्चर और हेलिपैडों का निर्माण किया, बल्कि अपने 600 से 700 जवानों को स्थायी तौर पर इलाके में तैनात कर दिया।