udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news पांच दिवसीय रूद्रनाथ महोत्सव का विधिवत आगाज

पांच दिवसीय रूद्रनाथ महोत्सव का विधिवत आगाज

Spread the love

गणेश विद्या मंदिर पुनाड़ की झांकी रही प्रथम,छात्र-छात्राओं ने किये अनेक सांस्कृति कार्यक्रम प्रस्तुत

रुद्रप्रयाग। जिला मुख्यालय के गुलाबराय मैदान में पांच दिवसीय रूद्रनाथ महोत्सव का स्कूली छात्र-छात्राओं के रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ आगाज हो गया है। मेले से पूर्व विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्राओं ने पैट्रोल पंप से मेला स्थल तक भव्य झाकियां निकाली।

मेले का उदघाटन करते हुये मुख्य अतिथि विधायक भरत सिंह चौधरी के प्रतिनिधि भाजपा जिला महामंत्री अजय सेमवाल ने कहा कि इस प्रकार के मेले हमें आपस में जोड़े रखते हैं। सभी को मेलों में प्रतिभाग करना चाहिये। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि नगरपालिका के तत्वावधान में भव्य मेले का आयोजन किया जा रहा है।

 

सभी विभागों ने मेले में अपने स्टॉल लगा रखे हैं। स्टालों के माध्यम से सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी जा रही है। जैक्लाई बटालियन के कमाडिंग ऑफीसर कर्नल अजय ठाकुर ने कहा कि इस प्रकार के मेले विकास की ओर अग्रसर करते हैं। अतिथियों का स्वागत करते हुये नगरपालिका अध्यक्ष राकेश नौटियाल ने कहा कि आम जनता के लिये मेले का आयोजन किया जा रहा है। नगर की जनता द्वारा भी मेले में भरपूर सहयोग दिया जा रहा है। जिले की जनता को बढ़-चढ़कर मेले में प्रतिभाग करना चाहिये।

इससे पूर्व पैट्रोल पंप से मेला स्थल तक विभिन्न विद्यालयों द्वारा निकाली गई झांकियों में गणेष विद्या मंदिर पुनाड़ की झांकी प्रथम, द क्रिएटिव अकेडमी की द्वितीय और सरस्वती विद्या मंदिर बेलणी की तृतीय स्थान पर रही। प्रथम झांकी को 51 सौ, द्वितीय को 31 और तृतीय को 31 सौ रूपये का नगद पुरस्कार पालिका की ओर से दिया गया।

 

मेले से पूर्व जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल और नगरपालिका अध्यक्ष राकेश नौटियाल ने सभी स्टालों का भी निरीक्षण किया। जिला मुख्यालय के विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्राओं ने अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। पालिका ने झांकी में प्रतिभाग करने वाले सभी विद्यालयों को प्रषस्ति पत्र और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।

इस मौके पर सभासद संतोश रावत, पंकज बुटोला, अधिषासी अधिकारी डीएस राणा, ग्राम प्रधान बरसू सुरेन्द्र सिंह बिष्ट, सहित अन्य मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन ओमप्रकाष सेमवाल और अरूण वाजपेयी ने संयुक्त रूप से किया।