udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news पांच सौ साल बाद हुआ इस पीपल के वृक्ष का पुनर्जन्म

पांच सौ साल बाद हुआ इस पीपल के वृक्ष का पुनर्जन्म

Spread the love

अलमोड़ा। राज्यपाल केके पाल स्वामी विवेकानंद की ज्ञान स्थली पंहुचे। जहां उन्होंने पांच सौ वर्ष पुराने पीपल वृक्ष के क्लोन से तैयार पौधे को नमन कर जल चढ़ाया। इस मातृ वृक्ष की छांव में स्वामी विवेकानंद को ज्ञान प्राप्त हुआ था। वहीं, इस दौरान राज्यपाल ने स्वामी की तपोस्थली को विवेकानंद पर्यटन सर्किट के रूप में विकसित किए जाने की भी बात कही है।

राज्यपाल केके पाल रामकृष्ण कुटीर और स्वामी विवेकानंद सेवा समिति के संयुक्त तत्वाधान में ‘ज्ञान वृक्ष शिक्षावृति’ कार्यक्रम में पहुंचे। इस दौरान उन्होंने सबसे स्वामी विवेकानंद के पदचिह्नों पर चलने का आह्वान किया। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत कोसी, सिरौता और शिप्रा की त्रिवेणी पर परिसर में आंवले का पौधा भी लगाया। रामलीला मैदान में राज्यपाल व राज्य मंत्री रेखा आर्या ने मां सरस्वती के चित्र के समीप दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

राज्यपाल केके पॉल ने कहा कि यह स्थान ज्ञान का संसार है। स्वामी विवेकानंद के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उन्होंने देश में नहीं बल्कि विदेशों में भी देश का नाम आगे बढाय़ा। कहा कि बच्चे व युवा ही देश का निर्माण करते हैं। राज्य मंत्री रेखा आर्या ने कहा, यहां के लोग भाग्यशाली हैं जो स्वामी विवेकानंद की ज्ञान स्थली के आस-पास रहते हैं। रामकृष्ण कुटीर के स्वामी सोमदेव ने कहा काकड़ीघाट से उनका विशेष लगाव है। भविष्य में यह क्षेत्र राज्य में अपनी अलग पहचान बनाएगा।

इस दौरान स्वामी विवेकानंद सेवा समिति के संरक्षक एसके घोष,नगर पालिका अध्यक्ष अल्मोड़ा प्रकाश जोशी, अध्यक्ष हरीश परिहार, पूर्व ब्लाक प्रमुख धन सिंह रावत, बिशन कनवाल, सुरेंद्र कनवाल, दलीप सिंह बोहरा, बिशन जंतवाल, मदन सिंह मेहरा आदि ने भी विचार रखे। कार्यक्रम में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पी रेणुका देवी, सीओ रानीखेत वीर सिंह, एसओ अल्मोड़ा चंद्र मोहन सिंह, शिक्षा अधिकारी गीतिका जोशी, तहसीलदार नितेश डागर आदि मौजूद रहे।

कोसी व सिरौता नदी के संगम तट पर स्थित स्वामी विवेकानंद की ज्ञान स्थली अब विवेकानंद टूरिज्म सर्किट के रूप में विकसित होगी। जिससे दूरदराज के पर्यटक स्वामी के जीवन के बारे में जान सकेंगे। वहीं, राज्यपाल ने काकड़ीघाट स्थित विद्यालय में विवेकानंद लाइब्रेरी के लिए एक लाख रुपये देने की घोषणा की। कहां की लाइब्रेरी में विवेकानंद की जीवनी से जुड़ी पुस्तकें रखी जाएंगी।

कार्यक्रम के दौरान वर्षभर विभिन्न खेल व शैक्षणिक गतिविधियों में शानदार प्रदर्शन करने वाले अमित कुमार, सुमित आर्या, रितिका,गजेंद्र कुमार ,नयन कुमार, पूजा आर्या, दीपिका कांडपाल, दीपांशी जोशी, आशीष परिहार, प्रियंका बिष्ट,वीरेंद्र चौहान, मनीष रावत, तनीषा, अमन रावत ,प्रियंका बिष्ट, अंकित कुमार, पूजा आर्या को राज्यपाल केके पॉल ने कॉपी, किताब व स्कूली बैग वितरित किए।