udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news पार्किंग निर्माण से पेयजल लाइन हो रही क्षतिग्रस्त

पार्किंग निर्माण से पेयजल लाइन हो रही क्षतिग्रस्त

Spread the love

उपभोक्ताओं में ठेकेदार और विभाग के खिलाफ आक्रोश,अपनी मनमर्जी से कार्य कर रहा है ठेकेदार

रुद्रप्रयाग। नगर क्षेत्र के नये बस अड्डे पर निर्माणधीन पार्किंग जनता के लिए परेशानी खड़ी कर रही है। निर्माण कार्य से बार-बार पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त हो रही है, जिसे दुरूस्त करने में ठेकेदार कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है, जबकि जल संस्थान विभाग लाइन जोड़ने में दो से तीन दिन का समय लगा रहा है। ऐसे में उपभोक्ताओं में ठेकेदार और विभाग के खिलाफ आक्रोश बना हुआ है।

दरअसल, केन्द्र सरकार की प्रसाद योजना के नगर के बस अड्डे पर पार्किंग का निर्माण कार्य चल रहा है। निर्माण कार्य का जिम्मा उत्तर प्रदेश निर्माण निगम को सौंपा गया है और निर्माण निगम के कर्मचारी हर दिन काम की देख-रेख भी कर रहे हैं, लेकिन सबसे बड़ी समस्या यह है कि पुनाड़ गदेरे से निकल रही पेयजल लाइन बार-बार क्षतिग्रस्त करने के बावजूद भी कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

पाइप लाइन को क्षतिग्रस्त करने पर ना ही ठेकेदार लाइन को ठीक कर रहा है और जब जल संस्थान विभाग को शिकायत की जा रही है तो विभाग की ओर से दो से तीन दिन का समय लगाया जा रहा है। ऐसे में उपभोक्ताओं में आक्रोश बना है। पूर्व पालिका अध्यक्ष श्रीमती रेखा सेमवाल, जयदीप पाण्डेय, प्रवीन सेमवाल, रमेश भट्ट, फरान खान, दशरथ सिंह ने कहा कि पार्किंग निर्माण में भी ठेकेदार द्वारा घटिया तरीके की सामाग्री का उपयोग किया जा रहा है।

पोकलैंड मशीन को गदेरे में उतारा गया है, जिससे आस-पास के भवनों को भी खतरा बन गया है। बड़े-बड़े बोल्डरों को हटाने के वजाय गदेरे में ही छोड़ा गया है, जिससे पानी सीधे भवनों के पुश्तों में घुस रहा है और भवनों को भी खतरा पैदा हो गया है। उन्होंने कहा कि बार-बार पेयजल लाइन को भी पोकलैंड मशीन के जरिये क्षतिग्रस्त किया जा रहा है और जब ठेकेदार से शिकायत की जा रही है तो उसकी ओर से कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है और इसमें कोढ़ में खाज का काम कर रहा है जल संस्थान विभाग। विभाग को सूचना दिये जाने के बाद भी पाइप लाइन को सही समय से नहीं जोड़ा रहा है।

उन्होंने कहा कि नगर क्षेत्र की जनता ठेकेदार की कार्यप्रणाली और जल संस्थान विभाग के रवैये से खासी परेशान है। एक ओर ठेकेदार अपनी मनमर्जी से कार्य कर रहा है। निर्माण कार्य की कोई जांच नहीं की जा रही है। जिला प्रशासन भी हाथ पर हाथ धरे बैठा हुआ है। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही कार्यप्रणाली में सुधार नहीं किया तो ठेकेदार और विभाग के खिलाफ आंदोलन छेड़ा जायेगा। वहीं नगर पालिका अध्यक्ष राकेश नौटियाल ने कहा कि पार्किंग निर्माण से पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो रही है।

इसके लिए ठेकेदार को हिदायत दी गई है कि वह समय से लाइन को ठीक करे, मगर ठेकेदार द्वारा अपनी मनमर्जी की जा रही है। इधर, जल संस्थान के अधिशासी अभियंता संजय सिंह का कहना है कि नगर पालिका के बस अड्डे में बनाई जा रही पार्किंग से पाइप लाइन बार-बार क्षतिग्रस्त हो रही है। ऐसे में ठेकेदार को निर्देश दिये गये हैं कि वह लाइन को तोड़े जाने पर दुरूस्त भी समय पर करे, लेकिन ठेकेदार है कि सुनने को तैयार नहीं है।

लाइन तोड़े जाने पर जल संस्थान विभाग के फीटर जोड़ने का काम कर रहे हैं, लेकिन योजना पर मोटे पाइप होने से काफी दिक्कतें आ रही हैं। पाइप लाइन को वैल्डिंग के जरिये जोड़ा रहा है, मगर निर्माण कार्य में बार-बार लाइन टूट रही है। ऐसे में ठेकेदार की जिम्मेदारी बनती है कि वह लाइन को जोड़ने का भी काम करे। यदि आगे से ठेकेदार ने लाइन को दुरूस्त नहीं किया तो एफआईआर दर्ज की जायेगी।