udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news पचास वर्ष पूरे होने पर उत्तराखण्ड में नौ दिवसीय हिमालय अभियान चलाया

पचास वर्ष पूरे होने पर उत्तराखण्ड में नौ दिवसीय हिमालय अभियान चलाया

Spread the love

रूद्रपयाग। केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल द्वारा अपनी स्थापना के स्वर्णिम पचास वर्ष पूरे होने पर उत्तराखण्ड में नौ दिवसीय हिमालय अभियान चलाया है। हरिद्वार से प्रारम्भ हुआ यह अभियान रूद्रप्रयाग जनपद श्रीनगर होते हुए गंगाघाट हरिद्वार में समाप्त होगा। जिसके तहत सामाजिक दायित्वों को निभाते हुए रूद्रप्रयाग जनपद के प्रमुख पर्यटन एवं धार्मिक स्थलों पर सतत विकास के लिए ठोस अपशिष्ट निपटान के तहत वृहद सफाई अभियान चलाया।

 

इसके साथ ही हम फिट तो इण्डिया फिट के तहत माउण्टेन बाइकिंग, ट्रेकिंग, कयाकिंग तथा राफ्टिंग आदि गतिविधियां चलाई गई। अभियान के छटवें दिन सोमवार को सीआईएसएफ की टीम ने रूद्रप्रयाग जनपद के सबसे बड़े महाविद्यालय गढ़केसरी अप्र बहुगुणा रा स्नातकोत्ता महाविद्यालय अगस्त्यमुनि में छात्र छात्राओं को केन्द्रीय सशस्त्र बलों में भर्ती होने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर उन्हें न केवल सीआईएसएफ के बारे में बताया गया बल्कि महिला कमाण्डो द्वारा मार्शल आर्ट के साथ ही वेपन हैडलिंग का प्रदर्शन भी किया गया।

 

महिला कमाण्डो द्वारा औरतों पर होने वाले हमलों से आत्मरक्षा के गुर बताते हुए उसे प्रदर्शित भी किया। अभियान दल का नेतृत्व कर रहे सुरक्षा बल के उपमहानिरीक्षक, जो कि इसी महाविद्यालय के 30 वर्ष पूर्व छात्र रहे थे, रघुवीर लाल ने छात्र छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि किसी भी क्षेत्र में सफलता के लिए आत्मविश्वास, दृढ़ इच्छाशक्ति एवं स्पष्ट दृष्टिकोण होना आवश्यक है। कहा कि यदि वे स्वयं पर पूरा भरोसा रखें तो कोई भी बाधा उन्हें सफलता से नहीं रोक सकती है।

 

उन्होंने अपने अभियान के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि इसके द्वारा उन्होंने न केवल अपना सामाजिक दायित्व निभाया है बल्कि पहाड़ों में साहसिक खेलों के लिए आधार भी बनाने में अपना सहयोग दिया है। कहा कि पहाड़ों में पर्यटन की अपार सम्भावनायें हैं। आवश्यकता है ईमानदारी से योजनायें बनाने की। उन्होंने केदारनाथ विधायक मनोज रावत का आभार जताते हुए कहा कि उनकी प्रेरणा से ही सुरक्षा बल ने हिमालय अभियान प्रारम्भ किया।

 

विधायक मनोज रावत ने कहा कि उनका उद्देश्य क्षेत्र के युवाओं को स्थानीय सफल व्यक्तियों से रूबरू कराकर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना है। वे क्षेत्र में साहसिक खेलों एवं ग्रामीण प्र्यटन को नया आयाम देने का प्रयास कर रहे हैं। जिसमें डीआईजी रघुवीर लाल ने अपार सहयोग किया। महिला सहायक सेनानी अशोक नन्दिनी ने सुरक्षा बल में महिलाओं की भूमिका के बारे में विस्तार से बताया।

 

महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो0 जीएस रजवार ने आगन्तुक अतिथियों का स्वागत करते हुए महाविद्यालय के पूर्व छात्र रघुवीर लाल का आभार जताया कि उन्होंने महाविद्यालय में आकर छात्र छात्राओं को प्रेरित किया। कार्यक्रम का संचालन सुरक्षा बल के अधिकारी देवेन्द्र एवं महाविद्यालय के प्राध्यापक डाॅ हरिओम शरण बहुगुणा ने किया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के छात्रों द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुतियां भी दी गई।

 

इस मौके पर सुरक्षा बल के सेनानी यतेन्द्र नेगी, जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी हरीश शर्मा, पूर्व संयुक्त शिक्षा निदेशक रमेश चमोला, ब्लाॅक कांग्रेस के अध्यक्ष हरीश गुसाईं, पीसीसी सदस्य वीरपाल रावत, महाविद्यालय के प्राध्यापक एवं छात्र छात्रायें मौजूद थे।