udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news  पहली बार जापान में ‘आर्टिफिशियल इंटेलिजेंट’ लडका बना नागरिक

 पहली बार जापान में ‘आर्टिफिशियल इंटेलिजेंट’ लडका बना नागरिक

Spread the love

टोक्यो । जापान के मध्य टोक्यो में शनिवार को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंट’ लडके को नागरिक का दर्जा दे दिया गया। यह एक वर्चुअल पात्र है जो किसी सात साल के लडके की तरह लगता है।

 

‘शिबुया मिरई’ नामक इस लडके का वैसे तो शारीरिक तौर पर वजूद नहीं है लेकिन वह मैसेजिंग एप ‘लाइन’ के जरिए लोगों से बातचीत कर सकता है।

 

यहां तक की संदेशों का जवाब भी दे सकता है। इसके साथ शिबुया मिरई जापान का पहला और शायद दुनिया का पहला आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पात्र बन गया है जिसका नाम असल जिंदगी की स्थानीय रजिस्ट्री में दर्ज किया गया है।

 

मशीनों द्वारा दिखाई जाने वाली बुद्घिमता को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कहा जाता है। टोक्यो में फैशन के प्रति रूचि रखने वाले युवाओं के लिए मशहूर उपनगरीय क्षेत्र शिबुया ने इस पात्र को विशेषष निवासी का सर्टिफिकेट दिया हैं।

 

जापानी भाषषा में मिरई का मतलब भविष्य होता है। इंसानों से मिलना है पसंद शिबुया ने कहा कि इस प्रोजेक्ट का उद्देश्य प्रांत की स्थानीय सरकार को निवासियों और अधिकारियों को उनकी राय सुनने के प्रति ज्यादा अनुकूल बनाना है।

 

इस पात्र को संयुक्त रूप से विकसित करने वाले माइक्रोसॉफ्ट के साथ एक बयान में शिबुया ने बताया कि उसे तस्वीरें लेने और लोगों को देखने का शौक है। उसे लोगों से बात करना पसंद है।