udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news पतंजलि योगपीठ में राष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप का महाकुंभ शुरू

पतंजलि योगपीठ में राष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप का महाकुंभ शुरू

Spread the love

खेल और योग का मानव जीवन में महत्व : रामदेव

हरिद्वार। पतंजलि योगपीठ में राष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप का महाकुंभ शुरू हो गया। तीन दिन तक चलने वाली राष्ट्रीय प्रतियोगिता का उद्घाटन योग गुरु स्वामी रामदेव ने किया।

देश भर के 29 राज्यों के करीब साढ़े आठ सौ खिलाडिय़ों को योग गुरु बाबा रामदेव ने संबोधित करते हुए कहा कि नौजवान पीढ़ी की आत्मरक्षा के लिए कराटे आज तेजी से लोकप्रिय होता जा रहा है। उन्होंने कहा कि खेल के साथ-साथ मानव जीवन में योग का भी विशेष महत्व है। खेल और योग दोनों से मानव जीवन में ऊर्जा आती है।

इस 29वीं राष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप का आयोजन ऑल इंडिया कराटेकृडू फेडरेशन के बैनर तले हो रहा है। योग गुरु स्वामी रामदेव ने उत्तराखंड की मार्शल आर्ट की विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक हासिल करने वाली खिलाडिय़ों आरती सैनी, प्रज्ञा जोशी और नीलेश जोशी को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।

पूर्व मुख्यमंत्री एवं हरिद्वार सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि पतंजलि योगपीठ में कराटे की राष्ट्रीय चैंपियनशिप में लघु भारत के दर्शन हो रहे हैं। पूरब से पश्चिम और उत्तर से दक्षिण भारत के राज्यों के खिलाड़ी एक छत के नीचे अपनी खेल कला का शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार खेलों को लगातार बढ़ावा दे रही है।

उत्तराखंड में भी खेल प्रतिभाओं को बढ़ावा दिया जाएगा। दूसरे सत्र में उत्तराखंड के विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल ने खेलों को बढ़ाना देने पर जोर देते हुए ऐलान किया कि इस प्रतियोगिता में उत्तराखंड जो खिलाड़ी स्वर्ण रजत और कांस्य पदक प्राप्त करेंगे। उन्हें नकद धनराशि से पुरस्कृत किया जाएगा।

रानीपुर विधायक आदेश चौहान ने कहा कि पतंजलि योगपीठ हमेशा खिलाडिय़ों का प्रोत्साहन करती रही है। कराटे खिलाडिय़ों का महाकुंभ एक अच्छी पहल है। ऑल इंडिया कराटेकृडू फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामेश्वर निर्वाण ने कहा कि 29 राज्यों के साढ़े आठ सौ से ज्यादा खिलाड़ी इस प्रतियोगिता में भाग ले रहे हैं।

इस अवसर पर वरिष्ठ भाजपा नेता विनय रोहिला, जिला भाजपा अध्यक्ष जयपाल सिंह चौहान, अनिल अरोड़ा, ओमप्रकाश जमदग्नि, कराटे महाकुंभ की आयोजन समिति के महासचिव और भारतीय कराटे महासंघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सतीश जोशी, भारतीय कराटे महासंघ के महामंत्री नरेंद्र मोर, उपाध्यक्ष पीआर रत्नमाला, संदीप साल्वी, सुरेंद्र सिंह, टूर्नामेंट निदेशक जोजी अब्राहम, एसके रॉय, डॉ. राधिका नागरथ आदि मौजूद रहे।