udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news पोस्टमॉर्टम: 96 डिग्री सेल्सियस पर फ्रीज़ किया था मां का शव

पोस्टमॉर्टम: 96 डिग्री सेल्सियस पर फ्रीज़ किया था मां का शव

Spread the love

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के सुब्रत मजूमदार ने अपनी मां के शव के टुकड़े कर उन्हें फ्रीज करके रखा था ताकि उनमें 25 साल बाद जान डाल सके। पिछले दो दिनों से चल रही इस खबर ने सबको सन्न कर दिया है।

 

अब पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से सामने आया है कि शव 25 साल तक सुरक्षित रहे इसके लिए सुब्रत ने उसे माइनस 96 डिग्री सेल्सियस पर डीप फ्रीज किया था। ने के बारे में इसलिए सोचा ताकि वह 25 साल बाद अडवांस हो चुकी मेडिकल साइंस के सहारे उनमें फिर से जान डाल सके।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक, सुब्रत ने बॉडी को फ्रीज करने से पहले उसके कई अहम पार्ट निकाल दिए थे। 46 वर्षीय सुब्रत का गिरफ्तारी के बाद जमानत मिलने पर अब दिमागी अस्पताल में इलाज चल रहा है। पुलिस के मुताबिक, उसने पूरी कोशिश की थी जिससे शव को सुरक्षित रखा जा सके। बॉडी इतनी बुरी हालत में थी कि पुलिस उसे सुब्रत के 89 वर्षीय वृद्ध पिता को अंतिम संस्कार के लिए नहीं दे पाई। रविवार को बीना (सुब्रत) की तीसरी पुण्यतिथि है।

पोस्टमॉर्टम एक्सपर्ट्स ने बताया कि टेस्ट में फॉर्मलिन के इस्तेमाल की पुष्टि हुई है, जिसे शव को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए इस्तेमाल करते हैं। हालांकि यह नहीं स्पष्ट हो पाया कि सुब्रत ने क्या कोई ऐसे केमिकल भी बॉडी में इंजेक्ट किए थे जिनसे बॉडी को डीप फ्रीज़ करके शव की कोशिकाओं, टिशूज़ और अंगों को गलने से रोका जा सके।

हालांकि पुलिस अभी पूरे मामले के पीछे पैसों के वजह होने के ऐंगल को भी खंगाल रही है। बीना के फिंगरप्रिंट लेने की कोशिश भी कर रही है, जिससे पता चल सके कि कहीं उनके फिंगरप्रिंट के जरिए कोई आर्थिक फायदा तो नहीं लिया गया है।

पुलिस कर रही पैसों के लेन-देन की जांच
सुब्रत के ऊपर आईपीसी की धारा 269 और 176 के तहत केस दर्ज किया गया है। उसे गोबरा के मनोरोग संस्थान ले जाया गया है। वहीं पुलिस पैसे के ऐंगल की जांच कर रही है। पुलिस ने बताया कि बैंक से सुब्रत के बारे में जानकारी मांगी गई है। उसके पिता गोपाल और मां बीना की पेंशन के बारे में भी जानकारी देने के लिए कहा गया है। साल 2015 के बाद अकाउंट से पैसे निकाले जाने का ब्यौरा भी मांगा गया है।

बता दें कि बेहाला इलाके में पिछले तीन साल से अपनी मां के शव के साथ रह रहे 46 साल के सुब्रत मजूमदार का मामला सामने आने से सनसनी फैल गई। उसने अपनी मां की मौत के बाद उसके शव को काटकर टुकड़ों को एक बड़े रेफ्रिजरेटर में रखा था और दो एसी वाले कमरे में इसे सील कर दिया था। सुब्रत के साथ उसके 89 साल के पिता भी रह रहे थे।