udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news प्रधानमंत्री का सपना वर्ष 2022 तक उन्नत एवं नये भारत का निर्माण

प्रधानमंत्री का सपना वर्ष 2022 तक उन्नत एवं नये भारत का निर्माण

Spread the love
नानकमत्ता/देहरादून: विकास की मुख्य धारा से पिछड़े देश के सभी निर्धन एवं गरीब व्यक्तियोें के आर्थिक एवं सामाजिक रूप से जीवन स्तर को ऊॅचा उठाना केन्द्र व राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता है। यह बात मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने केन्द्र सरकार के सफलतम चार वर्ष पूर्ण होने पर ताज पैलेस नानकमत्ता में आयोजित केन्द्रीय योजनाओं के लाभार्थियों के सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग करते हुए कही।
उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का सपना है कि जब भारत आजादी के 75 वर्ष मना रहा हो यानि वर्ष 2022 तक उन्नत एवं नये भारत का निर्माण हो जाये। उन्होंने कहा कि नव भारत निर्माण का स्वरूप ऐसा हो कि जिसमें गरीबी न रहे और सबके पास रहने के लिए अपना घर हो जिसमें बिजली, पानी, शौचालय, गैस आदि आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध हो। उन्होंने देश को गरीबी से मुक्त करने हेतु प्रधानमंत्री द्वारा किये जा रहे प्रयासों के लिए बधाई दी।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि उधम सिंह नगर जिले में उज्ज्वला, सौभाग्य, उजाला योजना के अन्तर्गत रजिस्टर्ड होने वाले परिवारों को 15 अगस्त तक पूरी तरह योजनाओं से लाभांवित कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि राज्य में सरकार बनते ही भ्रष्टाचार मुक्त शासन देने की दशा में लगातार कदम बढ़ाये जा रहे हैं। जिस कढ़ी में अभी तक कई भ्रष्टाचारी जेल जा चुके हैं तथा कई जाने वाले हैं।
उन्होंने कहा कि किसानों के उत्थान हेतु राज्य सरकार द्वारा कृषि के क्षेत्र में कार्य करने वाले 1 लाख 80 हजार किसानों को 2 प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध कराया गया है। उन्होंने कहा कि मार्केट में चीनी सस्ती होने के कारण मिलों से अभी तक चीनी मार्केट में नही पहुॅचने के बावजूद भी राज्य सरकार द्वारा गन्ना किसानों के लिए 40 करोड़ रूपये की धनराशि जारी की गयी है। उन्होंने कहा कि गेहुॅ उत्पादन करने वाले किसानों को समय पर लाभ पहुॅचाया जायेगा।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि गाॅव के विकास के लिए पहले एक रूपया दिया जाता था तो भ्रष्टाचार के कारण 50 पैसे भी विकास कार्य में सही से नहीं लग पाते थे तथा सामाजिक उत्थान के कार्यों में भी भ्रष्टाचार फैला हुआ था। भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए प्रधानमंत्री जी ने बिचैलियों के रास्तों को बन्द किया तथा सभी कार्य डिजिटल किये जा रहे हैं।
योजनाओं का शतप्रतिशत पैसा ग्राम प्रधान के खाते में आता है तथा विभिन्न लाभप्रद योजनाओं का पैसा डीबीटी योजना के अन्तर्गत सीधे लाभार्थियों के खाते में आता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी के कुशल नेतृत्व के कारण विश्व में भारत माता की जय-जयकार होती है तथा भारत ने अपनी शाक्ति का एहसास दुनिया को कराया है।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि विदेश नीति में विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज ने कमाल कर दिखाया है तथा देश के किसी भी नागरिक के विदेश में फंसे होने पर उसे तत्काल देश में लाने का काम किया जाता है। उन्होंने कहा कि श्री नितिन गडकरी के नेतृत्व में प्रत्येक दिन 27 किमी राजमार्ग का निर्माण किया जा रहा है जोकि पहले प्रतिदिन मात्र 04 किमी बनता था। श्री गडकरी जी ने अगले वर्ष से प्रतिदिन 40 किमी राजमार्ग निर्माण का लक्ष्य तय किया है।
उन्होेंने कहा कि वर्तमान समय में भारत पोलियों मुक्त देश बन चुका है तथा वर्ष 2025 तक देश को टीबी मुक्त देश बनाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि टीबी के रोगियों को निःशुल्क दवाईयां उपलब्ध कराने के साथ ही 6 हजार रूपये पोषण हेतु वार्षिक दिये जा रहे हैं ताकि रोगी पुष्टाहार ग्रहण करते हुए जल्दी से स्वस्थ व निरोग हो सके। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत अपना राज्य पहला ऐसा राज्य है जो 20 लाख परिवारों को 15 अगस्त तक योजना से कवर करने वाला है।
कार्यक्रम में 20 लाभार्थियों को उज्ज्वला योजना के अन्तर्गत गैस कनेक्शन वितरित किये गये तथा हाईस्कूल व इण्टरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा में क्षेत्र का नाम रोशन करने वाले 04 मेधावी विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने नानकमत्ता में मिनी स्टेडियम निर्माण, थारू जनजाति विकास भवन निर्माण, नानकमत्ता को पर्यटन धरती के रूप में विकसित करने, नानकमत्ता में श्रद्धालुओं के लिए पार्किंग की व्यवस्था, खटीमा विकासखण्ड के अन्तर्गत देवभूमि धर्मशाला की ओर सीसी मार्ग तथा नाली का निर्माण, झनकट में ललित बोरा एवं शिशु मन्दिर होकर हाईवे की ओर डामरीकरण कार्य, रतनपुर में मुख्य मार्ग से शहीद मानसिंह-कुन्दन सिंह पौखरिया के घर की ओर डामरीकरण कार्य की घोषणा करते हुए कहा कि इनका सरकारी आदेश (जीओ) जारी कर दिया गया है।
मुख्यमंत्री ने खटीमा हाईवे से डिग्री काॅलेज की ओर सड़क निर्माण, नानकमत्ता टीआरसी से नोगजा बलखेड़ा सड़क निर्माण, हाईवे से बिढ़ौरा मझोला सड़क निर्माण, सुन्दर नगर से आनन्द नगर-बंगाली काॅलोनी होते हए एनएच 125 तक सड़क निर्माण की घोषणा की।
कार्यक्रम में विधायक डाॅ. प्रेम सिंह राणा, श्री राजकुमार ठुकराल, श्री पुष्कर सिंह धामी, जिलाधिकारी डाॅ.नीरज खैरवाल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डाॅ.सदानन्द दाते, मुख्य विकास अधिकारी श्री आलोक कुमार पाण्डेय आदि उपस्थित थे।