udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news राजमार्ग पर लगाये जा रहे टल्ले, तीर्थयात्री बना रहे मजाक

राजमार्ग पर लगाये जा रहे टल्ले, तीर्थयात्री बना रहे मजाक

Spread the love

एक दिन भी नहीं टिक रहा डामर, विभाग की कार्यप्रणाली पर उठे सवाल

रुद्रप्रयाग। सरकारी विभागों की कारस्तानी भी अजीब है। समय रहते कोई भी काम नहीं किया जाता है। चारधाम यात्रा चरम पर है और राष्ट्रीय राजमार्ग खण्ड लोक निर्माण विभाग को अब जाकर राजमार्ग पर टल्ले लगाने की याद आ रही है। एक ओर सुबह के समय राजमार्ग पर टल्ले बिछाये जा रहे हैं, वहीं शाम के वक्त बारिश होने के बाद डामर का कहीं पता ही नहीं चल रहा है। ऐसे में स्थानीय लोगों ने विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर दिये हैं।

 

दरअसल, चारधाम यात्रा का आगाज हुए ढाई हफ्ते का समय हो चुका है और एनएच खण्ड को कस्बों एवं शहरों के बीच पड़े गड्डों को भरने की याद अब आ रही है। यात्रा में हर दिन इजाफा हो रहा है और विभाग की कारस्तानी को देख देश-विदेश से आये तीर्थयात्री भी मजाक बना रहे हैं। सुबह के समय बिछाया गया डामर शाम होते-होते नहीं टिक पा रहा है।

 

घटिया तरीके से राजमार्ग पर टल्ले बिछाये जा रहे हैं, जो विभाग की कार्यप्रणाली की पोल खोल रहे हैं। सभासद दीपांशु भट्ट, भाजयुमो जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र रावत, महामंत्री विकास डिमरी, उपाध्यक्ष दीपक सिलोड़ी ने कहा कि चारधाम यात्रा का आगाज हुए काफी समय हो चुका है और एनएच विभाग राजमार्ग पर अब जाकर टल्ले लगाने का काम कर रहा है।

 

उन्होंने कहा कि जो तैयारी पहले ही कर देनी चाहिए थी, वह अब की जा रही है। राजमार्ग पर बिछाया गया डामर एक दिन भी नहीं टिक पा रहा है। ऐसे में देश-विदेश से आ रहे तीर्थयात्री भी विभाग की कार्यप्रणाली का मजाक बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि हर दिन जिले में बारिश हो रही है और बरसात में भी विभाग टल्ले लगाने में लगा है। ये टल्ले लगते ही उखड़ रहा है।

 

वहीं जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि राजमार्ग पर बिछाये जा रहे डामर को सही तरीके से करने के निर्देश दिये गये हैं। राजमार्ग पर पड़े गड्डों को भरने के लिए टल्ले लगाये जा रहे हैं। ऐसा करने से हादसों से बचा जा सकता है।