रहस्यः नेवाडा ट्रांएगल में लापता हो चुके हैं 2000 प्लेन !

Spread the love

ये इलाका, जो भी प्लेन यहां से गुजरा फिर कभी नहीं लौटा, एरिया-51 से भी खतरनाक माना जाता है

 

अमेरिका : रहस्यः नेवाडा ट्रांएगल में लापता हो चुके हैं 2000 प्लेन !  जिस तरह अटलांटिक महासागर में बरमूडा ट्रांएगल अपने रहस्य के लिए जाना जाता है उसी तरह नेवाडा की ये जगह बेहद खतरनाक मानी जाती है। इस जगह को भी नेवाडा ट्रांएगल कहा जाने लगा है। इसके पीछे का कारण है यहां घटने वाली रहस्यमयी घटनाएं।

 

पश्चिमी अमेरिका के रेनो, फ्रेस्नो और लास वेगस के बीच मौजूद ये इलाका यहां से गुजरने वाले किसी भी विमान को नहीं बख्शता। पिछले 60 सालों में यहां 2 हजार से ज्यादा विमान दुर्घटनाग्रस्त हुए। सैंकड़ों पायलट कभी जिंदा नहीं लौटे। यही वजह है कि इस इलाके को एरिया-51 से भी खतरनाक माना जाता है।

एरिया-51 से खतरनाक माने जाने का साफ मतलब है कि यहां कुछ ऐसी शक्ति है जो विमानों को अपनी ओर खींच लेती है और वो क्रैश कर जाते हैं। एरिया-51 में भी ऐसा ही गुरुत्वाकर्षण और यहां तक एलियंस के होने की बातें भी सामने आती रही हैं। वहीं अब नेवाडा ट्राएंगल मिलिट्री और साइंटिस्ट्स के लिए बड़ी परेशानी बना हुआ है।

 

नेवाडा ट्राएंगल का एरिया आधे इंग्लैंड से भी ज्यादा है। इस क्षेत्र में लास वेगस, योसेमाइट नेशनल पार्क और एरिया-51 भी आता है, जिसे अब अमेरिका का टॉप सीक्रेट मिलिट्री बेस कहा जाता है।

 

नेवाडा के इस इलाके में 11 साल पहले अरबपति स्टीव फॉसेट और उनका विमान लापता हो गया था। स्टीव को प्लेन उड़ाने में लंबा एक्सपीरियंस था और खुद उनके नाम 100 से ज्यादा रिकॉर्ड थे। जब उनका विमान कैलिफोर्निया और नेवाडा बॉर्डर पर क्रैश हुआ, तो लोग हैरान रह गए। एक साल तक सर्च ऑपरेशन चला लेकिन किसी के हाथ कुछ नहीं मिला।

2008 में साइंटिस्ट्स और रेस्क्यू टीम ने पिछले कुछ हादसों वाली जगह पर खोज की तो अरबपति स्टीव के आइकार्ड मिल गए। इससे कुछ ही दूर पर उस विमान के अवशेष और कुछ हड्डियां बरामद हुईं। दो हड्डियों से पता चल गया कि वो स्टीव की ही थीं। लेकिन सबसे बड़ा सवाल ये था कि इतने अनुभव वाले पायलट का विमान यहां क्रैश कैसे हो गया?

 

एरिया-51 पहले ही लोगों के बीच डिबेट का मुद्दा था और फिर इसी के करीब नेवाडा में सैंकड़ों प्लेन के क्रैश होने की वजह से लोग एलियंस के अस्तित्व पर भरोसा करने लगे। कहा जाने लगा कि अमरीकी सरकार ने एलियंस के साथ छेड़छाड़ की है, जिसका ये नतीजा है।

 

जब आंकड़े जुटाए गए तो सरकार के होश उड़ गए। पिछले 60 सालों में यहां सबसे ज्यादा विमान दुर्घटनाग्रस्त हुए। करीब 2 हजार विमानों के खराब होने या क्रैश हो जाने की बातें सामने आईं। ये सारी घटनाएं नेवाडा में 25 हजार स्क्वेयर मील में फैले इलाके में ही घटीं।

 

कई साइंटिस्ट्स एलियंस और किसी सुपरनेचुरल ताकत होने की बात को नकारते हैं। वो कहते हैं कि ये घटनाएं यहां के एयर प्रेशर की वजह से हो सकती हैं। एक एक्सपर्ट ने कहा कि विमान यहां के पहाड़ों के ऊपर से उड़ते हैं, अचानक से रेगिस्तान जैसी जमीन आ जाता है। यहां लोग एयर प्रेशर नहीं समझ पाते, और विमान क्रैश हो जाते होंगे। हालांकि, एयर प्रेशर की वजह से ही ये घटनाएं घटी हैं साइंटिस्ट इसे सिद्ध नहीं कर पाए हैं।