udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news सर्वे में हुआ खुलासा : केवल 25 पर्सेंट ड्राइवर ही लगाते हैं सीट बेल्ट!

सर्वे में हुआ खुलासा : केवल 25 पर्सेंट ड्राइवर ही लगाते हैं सीट बेल्ट!

Spread the love

नई दिल्ली। देश की प्रमुख ऑटोमोबाइल कंपनी, मारुति सुजुकी के सर्वे में यह सामने आया है कि कार में बैठने वाले चार में से औसतन केवल एक शख्स ही सीट बेल्ट का इस्तेमाल करता है। इस प्राण रक्षा तकनीक के इस्तेमाल को लेकर जो आंकड़े सामने आए हैं, वे वाकई निराशाजनक हैं।

 

इस सर्वे में यह भी खुलासा हुआ कि ड्राइविंग के दौरान सीट बेल्ट लगाने जैसे जरूरी नियम को ताख पर रखने में महिलाएं पुरुषों से ज्यादा लापरवाह हैं। 81 पर्सेंट महिलाएं इस नियम को तोड़ती हैं जबकि पुरुषों का प्रतिशत 68 पर्सेंट है।

 

17 शहरों में कराया गया सर्वे
मारुति सुजुकी ने सीटबेल्ट यूज़ इन इंडिया नाम से देश के 17 शहरों में एक सर्वे कराया। यह सर्वे 2,500 ड्राइवर्स और पैसेंजर्स को लेकर किया गया। इसमें यह भी सामने आया कि सीट बेल्ट जरूरी वाले नियम के लिए और सख्ती की जरूरत है। पुलिस को सीटबेल्ट नहीं लगाने वालों के खिलाफ कड़ा ऐक्शन लेना चाहिए और उनपर जुर्माना लगाना चाहिए।

 

इतना ही नहीं, सीट बेल्ट लगाने के मामले में दिल्ली-एनसीआर को मेरठ ने पछाड़ दिया है। मेरठ में इस सेफ्टी फीचर का इस्तेमाल करने वालों का पर्सेंट शेयर दिल्ली-एनसीआर के ड्राइवर्स से कहीं ज्यादा है। सर्वे में यह भी सामने आया है कि 2016 में सीट बेल्ट नहीं पहनने की वजह से 5,638 मौतें रोड ऐक्सिडेंट्स में हुईं।

 

यह कहती हैं ग्लोबल स्टडीज़
ग्लोबल स्टडीज़ के मुताबिक, सीट बेल्ट पहनने से ऐक्सिडेंट में मौत की आशंका 45 पर्सेंट तक कम हो जाती है। इतना ही नहीं, सीरियस इंजरी की आशंका में भी 50 पर्सेंट की गिरावट आती है। सीट बेल्ट नहीं पहनने वालों का किसी ऐक्सिडेंट में वाहन के बाहर आ जाने का खतरा सीट बेल्ट पहने वालों के मुकाबले 30 गुणा अधिक होता है।

 

नागपुर है टॉप पोजिशन पर
इस रिपोर्ट में पता चला है कि नागपुर में 90 फीसदी ड्राइवर्स और जयपुर, चंडीगढ़ में 80 फीसदी से ज्यादा ड्राइवर्स सीट बेल्ट फीचर का इस्तेमाल करते हैं। इसके बाद मुंबई का नंबर आता है। चौंकाने वाली बात यह रही कि मध्य प्रदेश के इंदौर और कर्नाटक के बेंगलुरु में सीट बेल्ट इस्तेमाल करने वालों का प्रतिशत उम्मीद से कम है।

 

पिछली सीट पर बैठकर सीट बेल्ट इस्तेमाल करने वालों का पर्सेंट तो महज 4 ही है, जो कि वाकई निराशाजनक है। रिपोर्ट के मुताबिक, सीट बेल्ट पहनने के जरूरी नियम का उल्लंघन सबसे ज्यादा एसयूवी धारक करते हैं।