udaydinmaan, News Jagran, Danik Uttarakhand, Khabar Aaj Tak,Hindi News, Online hindi news सत्यापित व्यक्ति को ही किराये पर दी जाय दुकान और मकान

सत्यापित व्यक्ति को ही किराये पर दी जाय दुकान और मकान

Spread the love

रुद्रप्रयाग में स्थानीय लोगों ने निकाला कैंडल मार्च
जन अधिकार मंच ने मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन
रुद्रप्रयाग। जन अधिकार मंच की बैठक में बाहर से आ रहे लोगों का अनिवार्य रूप से सत्यापन करने और उन्हें वैध पहचान पत्र देने की मांग की गई। इस मौके पर मंच की ओर से जिलाधिकारी के माध्यम से एक ज्ञापन मुख्यमंत्री को भेजा गया। मंच ने उत्तरकाशी में बालिका की रेप के बाद निर्मम हत्या को क्रूरतम अपराध बताया और दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की मांग की गई। इससे पूर्व स्थानीय लोगों ने बालिका को श्रद्धांजलि देने के लिए रुद्रा बैंड से केदारनाथ तिराहे तक कैंडल मार्च निकाला और दो मिनट का मौन रखा।

जन अधिकार मंच के अध्यक्ष मोहित डिमरी की अध्यक्षता में हुई बैठक में मंच के सदस्यों ने कहा कि उत्तराखंड के गांव पलायन के कारण खाली होते जा रहे हैं, जबकि निर्माण एवं व्यवसाय का अधिसंख्य कार्य बाहरी राज्यों से आये लोग कर रहे हैं। बड़ी संख्या में आने वाले इन लोगों में कुछ असामाजिक एवं आपराधिक प्रवृत्ति के लोग भी आ जाते हैं, जिनके कारनामों से उत्तराखंड की सामाजिक-सांस्कृतिक का विद्रूपण हो रहा है। इससे सामाजिक समरसता और सद्भावना भी कई बार प्रमाणित हो जाती है।

जन अधिकार मंच मांग करता है कि बाहरी राज्यों-देशों से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति का सत्यापन कर उन्हें वैध पहचान पत्र प्रदान करने का कानूनी प्राविधान किया जाय। यह भी सुनिश्चित किया जाय कि सत्यापित व्यक्ति को ही भवन स्वामी मकान व दुकान किराये पर दें। किरायेदारों की सूचना भवन स्वामी पुलिस, पटवारी और ग्राम प्रधान को लिखित रूप में दे और वे उनका नियमित सत्यापन करें।

यह भी सुनिश्चित हो कि ठेकेदार, व्यापारी या अन्य सेवायोजक केवल सत्यापित व्यक्ति को ही सेवायोजित करें तथा फेरी अथवा फड़ लगाने वाले लोगों को बिना नगर निकाय अथवा जिला पंचायत में विधिवत पंजीकरण के फेरी करने, रेहड़ी व फड़ लगाने की अनुमति न हो और ऐसे लोगों को कठोर सजा का प्राविधान किया जाय। इन व्यवस्थाओं का अनुपालन न करने वालों पर दंडात्मक कार्यवाही का प्राविधान भी कानून में हो। ग्रामों में ग्राम प्रहरी को उनके सत्यापन की जिम्मेदारी दी जाय।

इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार रमेश पहाड़ी, अधिवक्ता केपी ढौंडियाल, सच्चिदानंद सेमवाल, बुद्धिबल्लभ ममगाई, प्यार सिंह नेगी, केशव नौटियाल, सचेन्द्र रावत, राय सिंह बिष्ट, भगवती प्रसाद गैरोला, डॉ कल्पेश्वर प्रसाद नौटियाल, रुद्रदत्त उनियाल, योगेश जुयाल, अंकित राणा, प्रदीप सेमवाल समेत अन्य लोग मौजूद थे।